IPL-12: पृथ्वी शॉ ने भरी हुंकार- चेन्नई के चैलेंज के लिए तैयार है दिल्ली

इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) में शुक्रवार को दिल्ली और चेन्नई की टीमें क्वालिफायर-2 (Qualifier-2) में आमने-सामने होंगी. 

IPL-12: पृथ्वी शॉ ने भरी हुंकार- चेन्नई के चैलेंज के लिए तैयार है दिल्ली
19 वर्षीय पृथ्वी शॉ दिल्ली के लिए अब तक 15 मैचों में 348 रन बना चुके हैं. (फोटो: IANS)

विशाखापत्तनम: इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) में शुक्रवार को दिल्ली और चेन्नई की टीमें क्वालिफायर-2 (Qualifier-2) में आमने-सामने होंगी. चेन्नई (Chennai Super Kings) गत चैंपियन हैं और उसके कप्तान एमएस धोनी हैं. ऐसे में उसे जीत का दावेदार माना जा रहा है. लेकिन दिल्ली (Delhi Capitals) भी आईपीएल की सबसे युवा टीम है और इसी कारण इसमें जोश की कमी नहीं है. दिल्ली के ओपनर पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की बातचीत में भी यही जोश दिख रहा है. उन्होंने मैच से एक दिन पहले कहा कि दिल्ली की टीम चेन्नई के खिलाफ होने वाले बड़े मुकाबले के लिए पूरी तरह से तैयार है. 

दिल्ली कैपिटल्स ने बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद को दो विकेट से हराकर क्वालीफायर-2 में प्रवेश किया था. अब फाइनल में पहुंचने के लिए उसे शुक्रवार को तीन बार की चैंपियन चेन्नई से भिड़ना होगा. क्वालीफायर-2 की विजेता टीम 12 मई को मुंबई इंडियंस के साथ हैदराबाद में फाइनल खेलेगी. 

यह भी पढ़ें: भारत के खिलाफ पाकिस्तानी खिलाड़ी 'सुसाइड बॉम्बर' जैसे हो जाते थे, अफरीदी का खुलासा

पृथ्वी शॉ ने मैच की पूर्वसंध्या पर कहा, ‘हमें पता है कि हमने चेन्नई के खिलाफ इस साल एक भी मैच नहीं जीता है. लेकिन कल (शुक्रवार) का मैच पूरी तरह से अलग होने वाला है. यह हमारे लिए यह एक चुनौतीपूर्ण मैच है लेकिन हमें इसमें असाधारण प्रदर्शन करना है.’ 

उन्होंने कहा, "उनके पास कुछ शानदार गेंदबाज हैं. स्पिनर और तेज गेंदबाज, दोनों ही काफी अनुभवी है, इसलिए हमें अपनी रणनीतियों के अनुसार खेलना होगा. लेकिन हम इस मैच को लेकर आश्चस्त हैं.’ 19 वर्षीय शॉ ने हैदराबाद के खिलाफ 56 रन की अर्धशतकीय पारी खेली. वे इस सीजन में दिल्ली के लिए अबतक 15 मैचों में 348 रन बना चुके हैं. 

पृथ्वी शॉ ने पिछले मुकाबले को लेकर कहा, ‘इस प्रकार के मैच में हमेशा आपके ऊपर दबाव रहता है, लेकिन ऋषभ ने एक अद्भुत पारी खेली. जैसा मैंने पहले कहा है कि वे इतनी कम उम्र में ही सबसे अच्छे फिनिशरों में से एक है. वे हमेशा हमारे लिए मैच में मौका बनाते हैं. वे काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. दुर्भाग्य से वे हमारे लिए फिनिश नहीं कर सके लेकिन अंत में कीमो ने अच्छा किया.’ सलामी बल्लेबाज ने साथ ही कहा, ‘पहले छह ओवर अहम होते हैं क्योंकि अगर आप बोर्ड पर रन जुटाते हो तो इससे अन्य बल्लेबाजों पर से दबाव कम हो जाता है.’