close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संदीप पाटिल के नाम से बनाया फेक अकाउंट, लोगों से मांगे नंबर और फिर...

संदीप पाटिल ने बताया कि पिछले दो हफ्ते से एक शख्स उनके दोस्तों से बोर्ड अध्यक्ष से लेकर खिलाड़ियों के नंबर मांग रहा है. 

संदीप पाटिल के नाम से बनाया फेक अकाउंट, लोगों से मांगे नंबर और फिर...
संदीप पाटिल 1983 में विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य रहे हैं. (फाइल फोटो)

मुंबई: पूर्व क्रिकेटर संदीप पाटिल के नाम से फेसबुक पर फेक अकाउंट बनाकर लोगों के नंबर मांगने का मामला सामने आया है. पाटिल ने इस बारे में थाने में मामला दर्ज कराया है. संदीप पाटिल ने एफआईआर में कहा कि किसी अनजान शख्स ने उनके नाम से फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाया है. पिछले दो हफ्ते से वह शख्स उनके दोस्तों से बोर्ड अध्यक्ष से लेकर  खिलाड़ियों के नंबर मांग रहा है. 
संदीप पाटिल ने बताया कि उन्हें इस बात का पता तब लगा, जब उनके एक दोस्त ने फोन करके पूछा कि वे लोगों के नंबर सोशल मीडिया के जरिए क्यों मांग रहे हैं. संदीप पाटिल का कहना है कि उन्होंने किसी का नंबर नहीं मांगा. उनके पास तो इन लोगों के नंबर पहले से ही हैं. इसलिए उन्हें किसी के नंबर मांगने की क्या जरूरत है. संदीप पाटिल का कहना है कि वे बोर्ड के साथ पिछले 21 साल से लगातार काम कर रहे हैं. इस मामले की गंभीरता को देखते हुए संदीप पाटिल ने पुलिस मे मामला दर्ज करना उचित समझा. 

संदीप पाटिल साल 1983 में वर्ल्ड जीतने वाली कपिल देव की कप्तानी वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं. वे साल 2011 में वर्ल्ड कप विजेता टीम के मुख्य चयनकर्ता भी रहे हैं. इन सबके साथ ही बीसीसीआई के कई पदों पर काम कर चुके हैं. संदीप पाटिल की एफआईआर के बाद पुलिस ने फेक फेसबुक अकाउंट को बंद करा दिया है. वह मामले की जांच में जुटी है. 

इस बात को गंभीरता से लेने का एक कारण और भी है कि कुछ दिन पहले भारतीय क्रिकेट टीम को लेकर धमकियां देने की भी बात सामने आई थी.  इस मामले में कार्रवाई करते हुए एटीएस की टीम असम से एक शख्स को गिरफ्तार करके मुंबई ले आई थी. फिलहाल इस ताजा घटनाक्रम के बात भारतीय क्रिकेट टीम के सुरक्षा को लेकर बहस शुरू हो गई और सुरक्षा कड़ी करने की बात कही जा रही है. 

(इनपुट: अमित त्रिपाठी)