close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धोनी की अहमियत को कभी कम नहीं आंकें, क्लार्क ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को किया आगाह

भारत के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी विकेट के पीछे से गेंदबाजों को निर्देश भी देते रहते हैं.

धोनी की अहमियत को कभी कम नहीं आंकें, क्लार्क ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को किया आगाह
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धोनी को अंतिम दो मैचों में विश्राम दिया गया था. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क ने आलोचकों को आगाह करते हुए कहा कि वे भारत की सीमित ओवरों की टीम में अनुभवी खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी की अहमियत को कभी कम करके नहीं आंके. ऑस्ट्रेलियाई टीम की बुधवार को यहां भारत पर पांचवें और अंतिम वनडे और पांच मैचों की सीरीज में 3-2 से जीत के बाद क्लार्क ने ट्वीट किया.

वर्ल्ड कप विजेता कप्तान क्लार्क ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘‘धोनी की अहमियत को कभी कम करके नहीं आंके. मध्यक्रम में अनुभव बेहद महत्वपूर्ण होता है.’’

भारत ने पहले दो मैच जीतने के बाद सीरीज गंवाई. ऑस्ट्रेलिया ने लगातार तीन मैच जीतकर शानदार वापसी की. धोनी को अंतिम दो मैचों में विश्राम दिया गया था और उनकी जगह विकेटकीपिंग की जगह लेने वाले ऋषभ पंत जूझते हुए नजर आए.

अपनी विकेटकीपिंग शैली के अलावा भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी विकेट के पीछे से गेंदबाजों को निर्देश भी देते रहते हैं. चाइनामैन कुलदीप यादव एक ऐसे गेंदबाज हैं जिन्हें आखिरी दो मैचों में धोनी की कमी खली.

सनी लियोनी के फेवरेट क्रिकेटर हैं MS Dhoni, जानें माही किस बात पर फिदा हैं एक्ट्रेस

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के पहले हैदराबाद वनडे में धोनी ने नाबाद 59 रन बनाकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभायी थी, लेकिन अन्य तीन मैचों में वह शून्य और 26 रन ही बना पाए. धोनी की गैर-मौजूदगी में अंतिम दो वनडे में ऋषभ पंत ने विकेटकीपर की भूमिका निभाई.

भारत को अब अक्टूबर तक अपनी सरजमीं पर कोई मैच नहीं खेलना है और ऐसे में कहा जा रहा है कि रांची का मैच धोनी को भारतीय धरती पर आखिरी मैच था. माना जा रहा है कि विश्व कप के बाद यह स्टार क्रिकेटर संन्यास ले सकता है.