Mohammed Kaif: 'हमने हीरे की तलाश में सोना खो दिया', मोहम्मद कैफ ने बताई भारतीय टीम की बड़ी कमजोरी
topStories1hindi1461577

Mohammed Kaif: 'हमने हीरे की तलाश में सोना खो दिया', मोहम्मद कैफ ने बताई भारतीय टीम की बड़ी कमजोरी

Team India: भारत अगले साल होने वाले वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा है. इसके लिए टीम इंडिया ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. अब भारत के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने भारतीय टीम की सबसे बड़ी कमजोरी का खुलासा किया है. 

Mohammed Kaif: 'हमने हीरे की तलाश में सोना खो दिया', मोहम्मद कैफ ने बताई भारतीय टीम की बड़ी कमजोरी

Mohammed Kaif On Indian Cricket Team: भारत साल 2023 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा है. वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया अभी से ही तैयारी कर रही है. टीम इंडिया को वर्ल्ड कप तक 25 वनडे मैच खेलने हैं. कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को इन मैचों में ही मिलकर भारतीय टीम के लिए प्लेयर्स तलाशने हैं. अब भारत के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने भुवनेश्वर कुमार के लिए बड़ा बयान दिया है. आइए जानते हैं, उसके बारे में. 

मोहम्मद कैफ ने दिया ये बयान 

भारत के पूर्व क्रिकेटर और बेहतरीन फील्डिर मोहम्मद कैफ (Mohammed Kaif) ने प्राइम वीडियो से बात करते हुए कहा, 'इंग्लैंड टीम ने हाल ही में वर्ल्ड कप जीता है, इंग्लिश टीम की औसत उम्र 31 साल थी. इसलिए अनुभवी प्लेयर्स का टीम में होना बहुत जरूरी है. गर भारत विश्व कप की तैयारी शुरू करना चाहता है, तो उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ चल रही सीरीज से ही इसकी शुरुआत करनी होगी, क्योंकि ज्यादा वनडे नहीं हैं और टीम को अपने खिलाड़ियों पर भरोसा जताना होगा.'

गेंदबाजी है बड़ी समस्या 

मोहम्मद कैफ ने वनडे वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में सबसे बड़ी समस्या गेंदबाजी को करार दिया है. उन्होंने कहा, 'शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) दूसरा वनडे नहीं खेल रहे हैं. मोहम्मद सिराज को घर भेज दिया गया है. भुवनेश्वर कुमार टीम में क्यों नहीं हैं, मुझे नहीं पता. वह अच्छा गेंदबाज है, लेकिन वह टीम का हिस्सा नहीं हैं. नए खिलाड़ियों की तलाश में हम पुराने खिलाड़ियों को खोते जा रहे हैं. एक कहावत है: हीरे की तलाश में हमने सोना खो दिया.'

उमरान मलिक के कही ये बात 

मोहम्मद कैफ ने कहा कि अर्शदीप सिंह, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार ये तीनों एक ही गति से बॉलिंग करते हैं, लेकिन हम उमरान के स्पीड की चर्चा कर रहे हैं. विश्व कप में हमने किसी ऐसे खिलाड़ी की कमी महसूस की जो प्रति घंटे 145 KMPH से गेंदबाजी कर सकता है. उमरान मलिक जैसे खिलाड़ी को हमें निश्चित रूप से समर्थन करना होगा.'

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

 

Trending news