Rohit Sharma के कप्तान बनते ही इस गेंदबाज की चांदी, खतरे में पड़ जाएगा इन दिग्गजों का करियर
X

Rohit Sharma के कप्तान बनते ही इस गेंदबाज की चांदी, खतरे में पड़ जाएगा इन दिग्गजों का करियर

विराट कोहली ने घोषणा की है कि वो टी20 वर्ल्ड कप के ठीक बाद टीम इंडिया की टी20 साइड की कप्तानी छोड़ देंगे. उनकी जगह लेने के लिए सबसे बड़े दावेदार रोहित शर्मा हैं. 

 

Rohit Sharma के कप्तान बनते ही इस गेंदबाज की चांदी, खतरे में पड़ जाएगा इन दिग्गजों का करियर

नई दिल्ली: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने फैसला किया कि वो इस साल टी20 वर्ल्ड कप के बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ देंगे. ऐसे में विराट के बाद इस पद को लेने वाले सबसे बड़े दावेदार दिग्गज ओपनर रोहित शर्मा हैं. रोहित के कप्तानी संभालते ही टीम में कुछ बड़े बदलाव तय हैं. जाहिर सी बात है रोहित भी टीम में बाकी कप्तानों की तरह अपने फेवरेट खिलाड़ियों को जगह देना पसंद करेंगे. ऐसे में एक युवा स्पिन गेंदबाज ऐसा है जिसका करियर रोहित की कप्तानी में बनना तय है.

बन जाएगा इस गेंदबाज का करियर 

रोहित शर्मा अगर टी20 टीम के कप्तान बने तो युवा लेग स्पिनर राहुल चाहर की टीम इंडिया में जगह एकदम परमानेंट हो जाएगी. 21 साल के लेग स्पिनर राहुल आईपीएल में रोहित की ही कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हैं. इतना ही नहीं उन्हें इस साल पहली बार टी20 वर्ल्ड कप खेलने का मौका दिया गया है. हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई टी-20 सीरीज में भी राहुल ने अपनी गेंदबाजी से सभी को प्रभावित किया था. टी-20 इंटरनेशनल में अभी तक राहुल ने सिर्फ 5 मैच खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 7 विकेट लिए हैं. वहीं, 38 IPL मैचों में उनके नाम 41 विकेट हैं. 

बढ़ जाएगी दिग्गजों की टेंशन 

राहुल चाहर अगर टीम में पक्के हो जाएंगे तो बड़े-बड़े दिग्गजों की टेंशन बढ़ जाएगी. टीम के मुख्य स्पिनर रहने वाले युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव का करियर काफी मुश्किल में पड़ सकता है. चहल और कुलदीप दोनों में से किसी को भी भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में भी जगह नहीं मिली है. इन दोनों ही गेंदबाजों का पत्ता राहुल चाहर और वरुण चक्रवर्ती ने काटा है. ऐसे में भविष्य में चहल और कुलदीप की जगह पर खतरा तो जरूर है.

 
कोहली ने इस वजह से लिया फैसला 

दरअसल विराट ने ये फैसला इसलिए लिया है क्योंकि तीनों फॉर्मेट में भारतीय टीम की कप्तानी करने से उनके खेल पर बहुत ज्यादा असर पड़ रहा है. दरअसल पिछले कुछ समय से विराट की फॉर्म कुछ अच्छी नहीं चल रही थी, जिसकी वजह से उन्होंने इतना बड़ा फैसला लिया है. हालांकि विराट कोहली ने टेस्ट और वनडे टीम की कप्तानी जारी रखने का फैसला किया है. पिछले कुछ सालों से कोहली का बल्ला वैसा नहीं चल पाया है जैसा पहलेचला करता था. कोहली पिछले दो साल से सभी फॉर्मेट में कोई भी शतक मारने में नाकाम रहे हैं.  

 

  

VIDEO-

 

 

 

Trending news