फेडरर की नहीं है संन्यास को लेकर कोई योजना, लंबे समय तक खेल में बने रहने का खोला राज

रोजर फेडरर का मानना है कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि वे इतने लंबे समय तक खेल पाएंगे. 38 की उम्र में भी उनकी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं है. 

फेडरर की नहीं है संन्यास को लेकर कोई योजना, लंबे समय तक खेल में बने रहने का खोला राज
रोजर फेडरर का कहना है कि वे नई पीढ़ी से भी सीखने की कोशिश करते रहते हैं. (फोटो: Reuters)

ब्यूनस आयर्स: दुनिया में बहुत कम ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने बढ़ती उम्र को मात देते हुए लंबे समय खेलों में अपना नाम बनाए रखा है. टेनिस में स्विट्जरलैंड के महान खिलाड़ी रोजर फेडरर (Roger Federer) भी उन्हीं में से एक हैं. फेडरर ने सोमवार को यहां जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव (Alexander Zverev) के खिलाफ होने वाले प्रदर्शनी मैच से पहले कहा कि वे हमेशा बेहतर होने की कोशिश करते हैं और मानते हैं कि यह 38 साल की उम्र में भी संभव है. 

पता नहीं था इतना खेल जाउंगा
फेडरर ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मैं नहीं जानता था कि मैं इतने लंबे समय तक खेल पाऊंगा. मैंने अनुमान लगाया था कि मैं 38, 39 साल की उम्र तक नहीं खेल सकूंगा, लेकिन मैं यहीं हूं. मैं अभी अपनी फिटनेस को लेकर बहुत खुश हूं. शारीरिक रूप से पिछले दो साल मेरे लिए बहुत बेहतरीन रहे हैं."

यह भी पढ़ें: इतिहास में आज: सचिन बने थे तीस हजारी, अब कोई आस-पास भी नहीं है उनके

नई पीढ़ी से सीखने की कोशिश
पिछले कुछ मैचों में फेडरर को युवा खिलाड़ी कड़ी चुनौती दे रहे हैं. इस बात को मानते हुए फेडरर ने कहा, "हर पीढ़ी कुछ नया लेकर आती है, शायद पावर, शायद मूवमेंट या शायद कुछ टेकनिकल चीजें और मुझे अभी भी लगता है कि मैं हमेशा बेहतर कर सकता हूं. आप हमेशा कुछ सीख सकते हैं और मैं यही कर रहा हूं." 

नई चीजें ट्राई करेंगे फेडरर
20 बार ग्रैंड स्लैम का खिताब जीत चुके फेडरर ने कहा कि वह आगामी मुकाबले में नई चीजें ट्राई करेंगे. फेडरर ने कहा, "मैं वहां जाकर थोड़ी-बहुत टेनिस खेलूंगा. मैं कोर्ट पर जाकर खेल का आनंद लेना चाहूंगा, लेकिन कुछ नई चीजें भी ट्राई करुंगा."

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान की अपील हुई खारिज, अब इस देश में डेविस कप खेलेगा भारत

संन्यास का कोई नियम नहीं
खेल से सन्यास लेने पर फेडरर ने कहा, "इसका कोई नियम नहीं है. आपको महसूस हो जाता है और मैं वास्तव में नहीं जानता कि मैं सन्यास लेने की घोषणा कब करुंगा. मैं समझता हूं कि यह मेरे स्वास्थ्य, परिवार और जाहिर तौर पर थोड़ा-बहुत नतीजों पर निर्भर करता है."

एटीपी फाइनल्स के सेमीफाइनल्स में हारे थे दोनों
फेडरर और ज्वेरेव इस सप्ताह डेविस कप फाइनल्स की बजाए यह प्रदर्शनी मैच खेल रहे हैं. दोनों ही खिलाड़ी इससे पहले एटीपी फाइनल्स में सेमीफाइनल मुकाबले तक पहुंचे थे, लेकिन फेडरर को सितसिपास ने और ज्वेरेव को डोमिनिक थिएम ने हराकर फाइनल में जगह बनाई थी
(इनरपुट आईएएनएस)