close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Boundary Count Rule: सचिन ने विश्व कप खत्म होते ही दी थी जो सलाह, ICC से अब बना नियम

Boundary Count Rule:आीसीसी ने विश्व कप फाइनल का विवादित बाउंड्री वाले नियम हटा दिया है, लेकिन उसकी जगह जो नया नियम लाया गया उसकी सलाह सचिन तेंदलुकर ने मैच के बाद ही दे दी थी.

Boundary Count Rule: सचिन ने विश्व कप खत्म होते ही दी थी जो सलाह, ICC से अब बना नियम
सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी के नए नियम का न्यायोचित बताया है. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: विश्व कप 2019 के खत्म होने के तीन महीने बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने अपने उस विवादित बाउंड्री काउंट नियम (Boundary Count Rule) को हटा दिया है, जिसकी वजह से विश्व कप 2019 के फाइनल के विजेता का फैसला हुआ था. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड (England vs New Zealand) के बीच हुए उस मैच में दोनों ही टीमों ने पहले 50 ओवर में और फिर सुपर ओवर में भी एक जितने रन बनाए थे, जिससे मैच का नतीजा निकालने के लिए बाउंड्री काउंट नियम का सहारा लिया गया था. अब जो नया नियम बना है उसके बारे में सलाह भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने उस मैच के अगले दिन ही एक इंटरव्यू में कर दी थी.

सचिन ने दी थी वही सलाह 
इस मैच में इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया था क्योंकि मैच में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड से 9 बाउंड्री ज्यादा लगाई थीं. इसके बाद से ही इस नियम की जमकर आलोचना होने लगी थी, जिसके बाद आईसीसी को इस नियम पर पुनर्विचार करना पड़ा. अब नए नियम के तहत फाइनल और सेमीफाइनल मैच टाई होने पर दोनों टीमों में तब तक सुपर ओवर कराए जाएंगे जब तक की एक टीम दूसरी टीम से ज्यादा रन नहीं बना लेती. लेकिन इस तरह की सलाह सचिन तेंदलुकर ने मैच के एक दिन बाद ही दे दी थी कि सुपर ओवर टाई होने की स्थिति में एक और सुपर ओवर कराया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर ने सौरव को अपने अंदाज में दी बधाई, दादा नहीं, यह किया संबोधन

क्या कहा था तब सचिन ने
सचिन के फैंस के एक ट्विटर अकाउंट ने इस बात को रेखांकित करते हुए ट्वीट कि सचिन ने एक इंटरव्यू में ऐसी सलाह दी थी. ट्वीट में उस इंटरव्यू की लिंक भी दी है. इस ट्वीट में कहा गया है कि सचिन ने 2019 विश्व के ठीक बाद सलाह दी थी कि अगर सुपर ओवर भी टाई होता है तो एक और सुपर ओवर होना चाहिए. आीसीसी ने अब इसे नियम बना लिया है. 

सचिन ने फैसले का किया स्वागत
इस ट्वीट को सचिन तेंदलुकर ने इसे रीट्वीट कर कहा, " मुझे लगता है कि यह जरूरी था क्योंकि यह नतीजा हासिल करने करने का उचित तरीका है जब दोनों टीमों में अंतर न हो पा रहा हो."

न्यूजीलैंड में थी निराशा
इस नियम के तहत उप-विजेता बनी न्यूजीलैंड में खासी निराशा का माहौल रहा था. वहीं नए नियम की न्यूजीलैंड की खिलाड़ी जेम्स नीशम  भी आईसीसी की टांग खिंचाई कर दी. उन्होंने ट्वीट किया, "एजेंडा में अगला कदम: टाइटेनिक पर आइस स्पोटर्स के लिए अच्छी दूरबीन." इस ट्वीट के साथ नीशम ने उस स्टोरी का लिंक भी लगाया है जिसमें इस आईसीसी द्वारा इस नियम को हटाने की खबर है. आईसीसी की मुख्य कार्यकारी समिति ने सोमवार को फैसला किया कि वह सुपर ओवर के नियम को जारी रखेगी और ज्यादा बाउंड्री मारने वाले नियम को हटा देगी. 

अब ऐसे होगा टाई मैचों का फैसला
अब नए नियम के मुताबिक आईसीसी की किसी भी प्रतियोगिता में वनडे और टी20 मैचों में अगर कोई लीग मैच टाई होता है तो अंक दोनों टीमों में बराबर बांटे जाएंगे, जबकि सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबलों में ऐसा होने पर सुपर ओवर से विजेता का फैसला होगा. अगर सुपर ओवर भी टाई होता है तो उसके बाद सुपर ओवर तब तक होते रहेंगे जबकि कोई एक टीम दूसरी टीम से ज्यादा रन नहीं बना लेती.