सचिन तेंदलुकर ने बताया, किसके नाम होंगे अगले 10 साल, अपने संदेश में दी यह सलाह

New Year: सचिन तेंदुलकर ने नए साल के लिए बधाई देते हुए बच्चों से दो अहम गुण सीखने की सलाह दी है. 

सचिन तेंदलुकर ने बताया, किसके नाम होंगे अगले 10 साल, अपने संदेश में दी यह सलाह
सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि आने वाले दशक में हम कई ऐसे काम कर सकते हैं जिससे हमारे बच्चों के सपने पूरे हो सके. (फोटो: IANS)

मुंबई: भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने नए साल के आगमन से पहले  कहा है कि आने वाला नया दशक बच्चों के नाम होना चाहिए. सचिन ने कहा कि बच्चों को इस दशक में बिना किसी डर के खुद को अभिव्यक्त करने की आजादी होनी चाहिए क्योंकि वे हमारे भविष्य हैं. 

नए साल की पूर्व संध्या पर सचिन ने कहा, "आने वाला साल 2020 और दशक बच्चों के बारे में होना चाहिए. उनके साथ समय बिताने, उन पर प्रेम बरसाने और उन्हें यह जानने देने से कि गलती करना बुरी बात नहीं है, हम उन्हें बड़े सपने देखने के काबिल बना सकते हैं."

यह भी पढ़ें: ICC Test Ranking 2019: विराट रहे साल के अंत में टॉप पर, ये भारतीय रहे पहले 10 में 
  
 सचिन ने कहा, "उनके स्वास्थ्य, पोषण और शिक्षा में निवेश कर हमें उनके सपनों को पूरा करने में सक्षम बना सकते हैं. यदि हम सब अपने आसपास खेलने के लिए सुरक्षित जगह बना सके तो यह लंबे समय में हमारे समाज में अहम बदलाव ला देगा."

सचिन ने खेलों की अहमियत पर जोर देते हुए कहा कि बच्चों का स्वस्थ रखने और उनमें टीम भावना संबंधी मूल्य रोपित करने में समय लगता है. उन्होंने कहा, "खेल न केवल बच्चों को सक्रिय और स्वस्थ रखता है, बल्कि वह उनमें टीमवर्क की भावना भरने के साथ आपसी व्यक्तिगत संबंधों के बारे में भी शिक्षित करता है. सभी बच्चों को जीवन के हर क्षेत्र में समान अवसर मिलने चाहिए और उनमें भेदभाव नहीं होना चाहिए."

सचिन ने व्यस्कों से भी उनके बच्चे को बाहर आने देने की बात की. उन्होंने कहा कि जिज्ञासा और उत्साह ऐसे दो गुण हैं जो बच्चों से लिए जाने चाहिए. सचिन ने कहा, "मैं चाहता हूं कि हर व्यस्क अपने में छिपा बच्चा बाहर लाए. जिज्ञासा और उत्साह दो ऐसे गुण हैं जो हम बच्चों से सीख सकते हैं. यह हमें खुश रखने और जो हम कर रहे हैं उसमें व्यस्त रखने के लिए बहुत जरूरी हैं. आप सभी को नए साल की शुभकामनाएं."