close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दक्षिण अफ्रीका का बड़ा दांव; उस भारतीय को बनाया कोच, जिसने एक टेस्ट मैच भी नहीं खेला

India vs South Africa: दक्षिण अफ्रीकी टीम 15 सितंबर से भारतीय टीम के खिलाफ टी20 सीरीज खेलेगी. दोनों तीन मैचों की टेस्ट सीरीज भी खेलेंगे. 

दक्षिण अफ्रीका का बड़ा दांव; उस भारतीय को बनाया कोच, जिसने एक टेस्ट मैच भी नहीं खेला
44 साल के अमूल मजूमदार ने 20 साल के करियर में 171 प्रथमश्रेणी, 113 लिस्ट ए और 14 टी20 मैच खेले हैं. (फाइल फोटो)

केपटाउन: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने भारत दौरे से पहले बड़ा दांव खेला है. उसने इस दौरे के लिए भारत के अमोल मजूमदार (Amol Muzumdar) को अपना बैटिंग कोच बनाया है. उन्हें डेल बेंकेस्टाइन की जगह यह जिम्मेदारी दी गई है. दक्षिण अफ्रीकी टीम 15 सितंबर से भारतीय टीम के खिलाफ (India vs South Africa) टी20 सीरीज खेलेगी. दोनों टीमों के बीच तीन टी20 मैच होंगे. इसके बाद दो अक्टूबर से तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. 

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA) के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट (कार्यकारी) कोरी वान जिल ने अमोल मजूमदार को बैटिंग कोच बनाए जाने की घोषणा की. उन्होंने सोमवार को कहा, ‘मजूमदार इस भूमिका के लिए पूरी तरह फिट हैं. उन्हें भारतीय परिस्थितियों में खेलने की जबरस्त जानकारी है. उन्हें पता है कि हमारे बल्लेबाजों को वहां किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. ऐसे में वे हमारे लिए बेहद मददगार साबित हो सकते हैं.’ 

यह भी पढ़ें: एशेज सीरीज जीतकर भी टेस्ट चैंपियनशिप में भारत से पीछे रहेगा ऑस्ट्रेलिया, जानिए वजह 

44 साल के अमूल मजूमदार ने 20 साल के करियर में 171 प्रथमश्रेणी, 113 लिस्ट ए और 14 टी20 मैच खेले हैं. उन्होंने प्रथमश्रेणी मैचों में 48.13 की औसत से 11,167 रन बनाए हैं. वे देश के चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्होंने रणजी ट्रॉफी में 10 हजार से अधिक रन बनाए हैं. वे रिटायरमेंट के बाद बैटिंग कोच बन गए हैं. वे आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स टीम के बैटिंग कोच भी रह चुके हैं. 

 

सीएसए (CSA) के कोरी वान जिल ने बताया, ‘अमोल मजूमदार ने हाल ही में स्पिन बॉलिंग कैंप में हमारी मदद की थी. इससे उनके और एडेन मार्करम, तेम्बा बवूमा और जायबर हम्जा से उनके अच्छे रिश्ते बन गए हैं.’ 

अमोल मजूमदार ने इस बारे में कहा, ‘मैं इस जिम्मेदारी के लिए बेहद उत्साहित हूं. मैं नए खिलाड़ियों की मदद करना चाहता हूं. मैंने करीब 25 साल मैदान पर बतौर खिलाड़ी बिताए हैं. अब मैं अगले 25 साल मैदान पर खिलाड़ियों की मदद करके बिताना चाहता हूं.’