रोहित की कप्तानी में एक मौके को तरसा ये खिलाड़ी, 27 साल की उम्र में ही बर्बाद हुआ करियर!
topStories1hindi1128740

रोहित की कप्तानी में एक मौके को तरसा ये खिलाड़ी, 27 साल की उम्र में ही बर्बाद हुआ करियर!

कप्तान रोहित शर्मा कुछ युवा खिलाड़ियों को मौका देकर अच्छे दांव खेल रहे हैं. लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जो रोहित की कप्तानी में टीम में एक मौके को तरस रहे. 

रोहित की कप्तानी में एक मौके को तरसा ये खिलाड़ी, 27 साल की उम्र में ही बर्बाद हुआ करियर!

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम में इस वक्त बदलाव का दौर चल रहा है. रोहित शर्मा को हाल ही में टीम इंडिया का नया कप्तान बनाया गया है. रोहित की कप्तानी में अबतक टीम इंडिया का प्रदर्शन कमाल का रहा है और भारतीय टीम इस खिलाड़ी के अंडर एक भी मुकाबला नहीं हारी है. रोहित कुछ युवा खिलाड़ियों को मौका देकर अच्छे दांव खेल रहे हैं. लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जो रोहित की कप्तानी में टीम में एक मौके को तरस रहे. 

इस खिलाड़ी को किया बाहर 

रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) को मौका नहीं दिया था. कुलदीप यादव को उन्होंने वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ भी नहीं खिलाया था. ऐसे में कुलदीप के करियर पर पावरब्रेक लगते हुए दिखाई दे रहे हैं. अब दूसरे टेस्ट मैच से पहले उन्हें बाहर कर दिया गया है. कुलदीप यादव की जगह अक्षर पटेल को मौका दिया गया है. रोहित ने उन्हें पहले टेस्ट मैच में भी नहीं खिलाया था. ऐसे में उन्हें एक भी मैच खिलाए बिना ही बाहर कर दिया गया है.   

कुलदीप हैं शानदार गेंदबाज 

भारतीय पिचें हमेशा से ही स्पिनरों की मददगार रहीं हैं. ऐसी पिचों पर कुलदीप ने अपनी घातक गेंदबाजी से भारतीय टीम को कई मैच जिताए हैं. विराट कोहली (Virat Kohli) ने भी उन्हें ज्यादा मौके नहीं दिए, जब रोहित शर्मा कप्तान बने, तो उनकी टीम में वापसी की उम्मीदें बढ़ गई थी, लेकिन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने उन्हें तगड़ा झटका दिया है. इस तरह से कुलदीप यादव का आधा करियर बेंच पर बैठकर ही बर्बाद हो रहा है. उनकी जगह आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्लेयर्स को मौका दिया जा रहा है. 

टीम की थे मजबूत कड़ी 

कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) बहुत ही शानदार फॉर्म में चल रहे थे. महेंद्र सिंह धोनी के जमाने में उन्हें टीम इंडिया का सबसे बड़ा मैच विनर माना जाता था. वर्ल्ड कप 2019 तक वह टीम इंडिया की स्पिन गेंदबाजी की मजबूत कड़ी थे, लेकिन उसके बाद वह कोच और कप्तान की नजरों में खटकने लगे और उन्हें टी20 वर्ल्ड कप 2021 से में भी जगह नहीं मिली थी. जबकि उन्होंने आईपीएल में बहुत ही शानदार गेंदबाजी का नमूना पेश किया था.

खतरे में कुलदीप यादव का करियर 

कुलदीप यादव में टैलेंट की कोई कमी नहीं है. वो एक खास तरह की गेंदबाजी करना जानते हैं जिसे 'चाइनामैन बॉलिंग' कहा जाता है. ये बेहद अनोखी बॉलिंग स्टाइल है, इसमें बाएं हाथ का स्पिनर गेंद को उंगलियों की बजाय कलाई से स्पिन कराता है. महेंद्र सिंह धोनी जब भारतीय टीम के लिए क्रिकेट खेलते थे, तो कुलदीप यादव को सबसे ज्यादा फायदा होता था, लेकिन धोनी के संन्यास लेते ही कुलदीप यादव का करियर अंधेरे में जा रहा है.

Trending news