बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र बंद, भारत ने गंवाई टेनिस टूर्नामेंटों की मेजबानी

बालाकोट हवाई हमले के बाद पाकिस्तान आज भी डरा-सहमा हुआ है.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र बंद, भारत ने गंवाई टेनिस टूर्नामेंटों की मेजबानी

नई दिल्ली: बालाकोट हवाई हमले के बाद पाकिस्तान आज भी डरा-सहमा हुआ है. इसी वजह से पूर्व से पश्चिम और पश्चिम से पूर्व की सभी उड़ानें 11 मार्च तक के लिए बंद कर दी गई हैं. वायुक्षेत्र बंद होने के कारण भारत ने जूनियर डेविस कप और फेड कप टेनिस टूर्नामेंटों की मेजबानी गंवा दी. टेनिस का विश्व कप कहे जाने वाले अंडर 16 डेविस कप में भाग लेने पाकिस्तान समेत 16 टीमों को भारत आना था. जूनियर डेविस कप आठ से 13 अप्रैल तक डीएलटीए परिसर में होना था जबकि फेड कप मैच 15 से 20 अप्रैल तक होने थे.

एक उच्च पदस्थ सूत्र ने प्रेस ट्रस्ट को बताया,‘‘ पाकिस्तान का वायुक्षेत्र उस समय बंद था और भारत में हवाई अड्डे भी हाई अलर्ट पर थे . किसी को पता नहीं था कि ये हालात कब तक रहेंगे लिहाजा टूर्नामेंटों को अन्यत्र कराने का फैसला लिया गया.’’ अब दोनों टूर्नामेंट बैंकाक में होंगे.

पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है. भारत ने हमले की जिम्मेदारी लेने वाले जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों पर 26 फरवरी को हवाई हमला किया. उसके बाद से पाकिस्तान का वायु क्षेत्र बंद है.

सूत्र ने कहा,‘‘ वायु क्षेत्र बंद होने से उड़ानें घूमकर आ रही है जिससे किराया और यात्रा का समय बढ रहा है . कजाखस्तान को मौजूदा हालात में दिल्ली आने के लिये तीन चार घंटे अतिरिक्त यात्रा करनी होगी .’’

एआईटीए से इस बारे में पूछने पर उसके महासचिव हिरण्यमय चटर्जी ने कहा कि एआईटीए टूर्नामेंट के लिये धन नहीं जुटा सका. उन्होंने कहा,‘‘ इस देश में टेनिस के लिये धन जुटाना काफी कठिन है. हमने हाल ही में कोलकाता में डेविस कप की मेजबानी की और अब हमारे पास पैसा नहीं है. सरकार भी मदद नहीं करती तो हमने खुद आईटीएफ से कहा कि हम इसकी मेजबानी नहीं कर सकेंगे.’’

(इनपुट-भाषा)