Ethiopia के टिग्रे में 1 लाख बच्चे भयंकर भुखमरी के कगार पर, UN ने कहा- 10 गुना बढ़ा सकता है खतरा

संयुक्त राष्ट का कहना है कि इथियोपिया के टिग्रे इलाके में 1 लाख से अधिक बच्चे कुपोषण का शिकार हो सकते हैं. इसी कारण कुपोषण के मामले 10 गुणा तक बढ़ सकते हैं.

Ethiopia के टिग्रे में 1 लाख बच्चे भयंकर भुखमरी के कगार पर, UN ने कहा- 10 गुना बढ़ा सकता है खतरा
फोटो साभार: Reuters

नैरोबी: संयुक्त राष्ट्र (UN) की बाल एजेंसी ने शुक्रवार को आगाह किया कि अगले साल में इथियोपिया (Ethiopia) के संकटग्रस्त टिग्रे (Tigray) इलाके में 1 लाख से अधिक बच्चे कुपोषण के बेहद गंभीर और घातक रूप का सामना कर सकते हैं. 60 लाख की आबादी वाले इस क्षेत्र में मानवीय मदद पर रोक लगी हुई है.

10 गुणा बढ़ेंगे कुपोषण के मामले

यूनिसेफ इमरजेंसी रिस्पोंस टीम की सदस्य मैरिक्सी मेरकेडो ने बताया कि, 'संयुक्त राष्ट्र को टिग्रे में कुपोषण के मामलों में 10 गुणा से अधिक वृद्धि होने का अनुमान है. फिलहाल हम जो देख पा रहे हैं, उसी के आधार पर यह अनुमान लगाया गया है. अभी वहां संकट बढ़ रहा है और भोजन की आपू्र्ति पर पाबंदी है.'

ये भी पढ़ें:- अचानक बिगड़ सकती है इन 3 राशि वालों की तबीयत, ये संकेत मिलें तो तुरंत कराएं इलाज

रास्ते में फंसे हैं खाने से लदे 200 ट्रक

अगले कुछ दिन में संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका के हाई लेवल ऑफिसर इथियोपिया का दौरा करने वाले हैं, जिससे पहले यह चेतावनी जारी की गई है. ये अधिकारी सरकार पर टिग्रे में आपूर्ति शुरू करने का दबाव बनाएंगे. अमेरिका का कहना है कि टिग्रे को 'घेर' लिया गया है. खाद्य सामग्री से लदे संयुक्त राष्ट्र के लगभग 200 ट्रक क्षेत्र को जोड़ने वाली एकमात्र सड़क पर फंसे हुए हैं.

ये भी पढ़ें:- यहां शादी के बाद 3 दिनों तक टॉयलेट नहीं जा सकते दूल्हा-दुल्हन, चौंकाने वाली है वजह

अकाल का सामना कर रहे 9 लाख लोग

टिग्रे पिछले एक दशक में दुनिया के सबसे बड़े भुखमरी संकट के मुहाने पर खड़ा है. अमेरिका का कहना है कि फिलहाल 9 लाख लोग अकाल की स्थिति का सामना कर रहे हैं. इथियोपिया सरकार का कहना है कि उसने टिग्रे के उग्रवादी बलों की मदद पर पाबंदी लगा रखी है, जिन्होंने क्षेत्र के अधितकर हिस्से पर कब्जा कर रखा है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.