close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जापान के पीएम जैसे ही पहुंचे ईरान, टैंकरों पर हुआ हमला, विदेश मंत्री ने कहा- ये बहुत खतरनाक है

ज़रीफ़ ने ट्वीट कर कहा कि जापान से संबंधित टैंकर पर हमला तब हुआ जब प्रधानमंत्री शिंजो आबे ईरानी नेता आयातोल्लाह खमैनी के साथ व्यापक और मित्रवत मुलाकात कर रहे थे. 

जापान के पीएम जैसे ही पहुंचे ईरान, टैंकरों पर हुआ हमला, विदेश मंत्री ने कहा- ये बहुत खतरनाक है
.(फाइल फोटो)

तेहरान: ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने गुरुवार को कहा कि जापान के प्रधानमंत्री के यहां वार्ता करने के तुरंत बाद ईरानी तट पर दो टैंकरों पर हमलों के व्यापक निहितार्थ होने का उन्हें संदेह है. ज़रीफ़ ने ट्वीट कर कहा कि जापान से संबंधित टैंकर पर हमला तब हुआ जब प्रधानमंत्री शिंजो आबे ईरानी नेता आयातोल्लाह खमैनी के साथ व्यापक और मित्रवत मुलाकात कर रहे थे. इसके निहतार्थ संदेह से कहीं ज्यादा हैं. उन्होंने कहा,‘‘ आज सुबह जो कुछ भी हुआ है, उसे संदेह जैसे शब्द से बयान नहीं किया जा सकता.’’

ईरान और अमेरिका के बीच बढ़ते तनाव को दूर करने के प्रयास के तहत जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने ईरान के सर्वोच्च नेता अयातोल्लाह अली खामेनी से गुरुवार सुबह मुलाकात की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्बास मूसावी ने भी आबे के दौरे और टैंकर पर हमले की खबर के संयोग पर “चिंता” जाहिर की है और कहा कि यह “तनाव कम करने के क्षेत्रीय और कई देशों द्वारा किये जा रहे प्रयासों के खिलाफ” है.

उन्होंने कहा, “ईरान क्षेत्र में सहयोग और बातचीत का समर्थन करता है.” दो टैंकरों में से एक - कोकूका करेजियस- जापानी कंपनी कोकूका सैंगयो लिमिटेड का था. कंपनी के प्रमुख ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी. जहाज के मालिक ने पुष्टि की कि उनके टैंकर पर हमला हुआ और चालक दल के सभी 21 सदस्यों को बचा लिया गया.

ईरान की नौसेना ने कोकूका करेजियस और नार्वे के स्वामित्व वाले फ्रंट आल्टेयर में आग लगने के बाद उनमें सवार सभी 44 लोगों को बचा लिया.