उत्तर कोरिया के इस आदमी ने किम जोंग की हालत पर किया सबसे पुख्ता दावा

15 अप्रैल से सत्ताधारी पार्टी के कार्यक्रम में किम की असामान्य अनुपस्थिति ने संकेत दिए हैं...

उत्तर कोरिया के इस आदमी ने किम जोंग की हालत पर किया सबसे पुख्ता दावा
फोटो में बाईं तरफ उत्तर कोरिया का सैनिक और बाई तरफ किम जोंग उन (फाइल फोटो) | फोटो साभार: रॉयटर्स

प्योंगयांग: उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) पिछले कुछ हफ्तों से सामने नहीं आ रहे हैं. जिसके कारण कई तरह की अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. अब उत्तर कोरिया के एक डिफेक्टर के मुताबिक, किन जोंग उन का यूं अचानक से गायब होना संकेत देता है कि वह खड़े नहीं हो सकते या खुद चल सकते हैं. थाए योंग-हो ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि 15 अप्रैल से सत्ताधारी पार्टी के कार्यक्रम से किम की असामान्य अनुपस्थिति ने संकेत दिया कि तानाशाह शारीरिक रूप से कमजोर हैं.

उत्तर कोरिया के पूर्व राजनयिक और हाल में सांसद चुने गए थाए ने कहा, ''मुझे इस पर पक्का यकीन नहीं है कि उनकी कोई सर्जरी हुई है या नहीं. लेकिन एक चीज स्पष्ट है कि वह अपने पैरों पर खड़े या खुद से चल-फिर नहीं सकते हैं.''

दक्षिण कोरिया और अमेरिकी मीडिया संस्थानों ने बिना किसी स्पष्टीकरण के ही किम के गंभीर बीमार या मौत की अफवाहों को खारिज कर दिया है. लेकिन थाए ने इस मामले पर कहा है कि इस सच्चाई का पता सिर्फ तानाशाह के परिवार या करीबियों को पता होगा.

ये भी पढ़ें- Twitter पर ISI की नजर, भारत को अंतराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने की बड़ी साजिश

बता दें कि किम को आखिरी बार 11 अप्रैल को सार्वजनिक रूप से देखा गया था. उन्होंने प्योंगयांग में सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की एक बैठक की अध्यक्षता की थी. फिर 15 अप्रैल को किम जोंग-उन अपने दादा के जन्मदिन के उत्सव में शामिल नहीं हुए थे. इसके बाद उनके सेहत को लेकर तमाम अफवाहें उड़ने लगीं.

थाए ने आगे कहा, ''किम जोंग उन केवल उत्तर कोरिया का लीडर ही नहीं बल्कि वह किम इल-सुंग के पोते भी हैं. अगर उत्तर कोरियाई नजरिए से देखा जाए तो यह बहुत असामान्य बात है.''

हालांकि अभी भी कुछ जानकारों के मुताबिक, अगर अफवाहों में कोई सच्चाई नहीं होती तो उत्तर कोरिया स्वस्थ दिखने वाले किम की तस्वीर जारी नहीं करता. वहीं, आधिकारिक मीडिया ने रिपोर्ट में किम के नाम भेजे गए संदेशों के अलावा 11 अप्रैल से उनके जीवित होने का कोई ठोस सबूत नहीं दिया है.

थाए का मानना है कि केवल किम की पत्नी री सोल-जू और उनकी बहन किम यो जोंग इस पूरी कहानी को बता सकती हैं. आपको बता दें कि किम की पर्सनल ट्रेन उत्तर कोरिया के एक शहर में दिखाई दी थी. जिसकी कुछ तस्वीरें मीडिया में सामने आ रही हैं.

ये भी पढ़ें- जानिए ऋषि कपूर का वो दर्द, जिसका जिक्र उन्होंने अपने ट्विटर स्टेटस में भी किया

थाए ने इस संबंध में चेतावनी देते हुए कहा कि किम की पर्सनल ट्रेन का वॉनसन शहर में दिखाई देना, लोगों का ध्यान भटकाने की साजिश भी हो सकती है. थाए ने कहा कि प्योंगयांग के अधिकारी इस बात जानते हैं कि ट्रेन को सैटेलाइट से देखा जा सकता है और पहले भी बाहरी लोगों को भ्रमित करने के लिए इसे देशभर में भेजा जा चुका है.

दक्षिण कोरिया के उत्तर कोरियाई मामलों के मंत्री किम योन-चुल ने कहा है कि किम बाहर भी हो सकते हैं क्योंकि वह कोरोना वायरस से बचने की कोशिश कर रहे हों और इसीलिए नहीं कि वह गंभीर रूप से बीमार हैं. किम योन-चुल ने सांसदों से ज्यादा जानकारी साझा ना करते हुए कहा कि सरकार को किम जोंग उन की लोकेशन की जानकारी है.

उन्होंने कहा, ''हां, यह सच है कि जब से वह सत्ता में हैं, उन्होंने अपने दादा जी के एनिवर्सरी सेलिब्रेशन को कभी मिस नहीं किया. लेकिन कोरोना वायरस के कारण कई एनिवर्सरी, जन्मदिन समेत कई इवेंट रद्द हैं.''

उत्तर कोरिया का दावा है कि उनके यहां कोरोना का एक भी मामला नहीं है. हालांकि सावधानी के लिए उन्होंने कुछ बड़े कार्यक्रमों को रद्द किया है. एक अमेरिकी अखबार के मुताबिक, किम के स्वास्थ्य को लेकर अफवाहों ने प्योंगयांग में दहशत की स्थिति पैदा कर दी है. रिपोर्ट के मुताबिक, लोगों ने चावल, शराब, सिगरेट, डिब्बाबंद मछली और इलेक्ट्रॉनिक्स चीजों को स्टॉक कर लिया है, जबकि हेलीकॉप्टर शहर में कम उड़ान भर रहे हैं.

दक्षिण कोरिया की एक रिपोर्ट कहती है कि किम की सेहत को लेकर अटकलें इतनी तेज हो गई हैं कि अमेरिका ने उत्तर कोरिया की हरकतों पर नजर रखने के लिए पांच जासूसी विमानों को लगाया है. वहीं साउथ कोरिया के एक अखबार के मुताबिक, साउथ कोरिया ने भी अपने पड़ोसी देश नार्थ कोरिया पर एक जासूसी विमान छोड़ा हुआ है ताकि किम के जीवित और ठीक होने की सच्चाई का पता चल सके.

अमेरिका खुफिया रिपोर्टिंग से जुड़े एक सूत्र के मुताबिक, कोविड -19 से बचने के लिए किम सार्वजनिक रूप से गायब हो गए थे. वॉनसन शहर के रिसॉर्ट में किम की ट्रेन दिखाई देना यह संकेत हो सकता है कि वह वहां पर हैं या हाल ही में वहां पर हों. खुफिया सूत्रों का कहना है कि अमेरिकी एजेंसियां अभी भी किम के गंभीर रूप से बीमार होने की संभावना जता रही हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा था कि उन्हें अच्छी तरह से पता है कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग किन हालात में है. लेकिन वह इसे विस्तार से नहीं बताना चाहते हैं. वहीं जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि वह किम के स्वास्थ्य संबंधी खबरों से अवगत हैं और वह खुद इसकी निगरानी कर रहे हैं.

LIVE TV