PAK में हिंदू छात्रा की मौत: आरोपी का बड़ा बयान, कहा- 'वह मुझसे शादी करना चाहती थी'

 पुलिस से पूछताछ के दौरान महरान ने कहा था कि निमृता उससे विवाह करना चाहती थी लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं था. अब आगे की पूछताछ में उसने कहा है कि अगर शादी कर लेता तो 

PAK में हिंदू छात्रा की मौत: आरोपी का बड़ा बयान, कहा- 'वह मुझसे शादी करना चाहती थी'

लरकाना: पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में हिंदू मेडिकल छात्रा निमृता कुमारी की रहस्यमय हालात में हुई मौत के मामले में पुलिस की जांच में कोई विशेष प्रगति नहीं हुई है. पुलिस अपनी कार्रवाई में लगी हुई है और उसने निमृता के साथ हॉस्टल के कमरे में रहने वाली छात्रा का बयान दर्ज किया है.पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि निमृता के साथ हॉस्टल का कमरा साझा करने वाली छात्रा गीता का बयान पुलिस ने दर्ज किया है.गीता ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि 16 सितम्बर को हॉस्टल कमरे का दरवाजा तोड़ कर अंदर जाने पर निमृता का शव मिला था.उसके गले में दुपट्टे का फंदा लगा हुआ था.

पुलिस को कमरे की जांच के दौरान बेड पर एक छोटी कैंची मिली थी.इस कैंची से जब फंदा नहीं कटा तो दांत की मदद से फंदा खोला गया. इस मामले में निमृता के दो सहपाठी महरान अबरो और दिलशान पुलिस हिरासत में हैं.इन तीनों को 13 सितम्बर के एक वीडियो में एक साथ देखा गया है जिसमें तीनों के बीच किसी बात पर तल्खी नजर आ रही है.

पुलिस ने पाया है कि निमृता के मोबाइल से अधिकांश कॉल महरान को किए जाने का पता चला है. पुलिस से पूछताछ के दौरान महरान ने कुछ और बातें कहीं है.उसने पहले कहा था कि निमृता उससे विवाह करना चाहती थी लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं था. अब आगे की पूछताछ में उसने कहा है कि अगर शादी कर लेता तो धार्मिक कारणों से रिश्तेदार जिंदा नहीं छोड़ते.

पुलिस निमृता को बरामद कर लेती, उसके घरवाले उसे कहीं और भेज देते और उसे जेल हो जाती. निमृता से शादी पर उसका और उसके परिवार का भविष्य तबाह हो जाता. महरान ने पूछताछ में यह भी कहा कि उसके घरवाले भी शादी के पक्ष में नहीं थे.उसने निमृता के घरवालों से भी कह दिया था कि वह शादी नहीं कर सकता.

रिपोर्ट में कहा गया है कि जांच में यह सामने आ रहा है कि महरान द्वारा शादी से इनकार के बाद निमृता तनाव में थी. निमृता का एटीएम कॉर्ड इस्तेमाल करने के बारे में महरान ने बताया कि उसकी बहन की शादी से जुड़ी खरीदारी निमृता ने ही कराची में कराई थी.उस दौरान निमृता ने अपने एटीएम का इस्तेमाल किया और उसने भी किया था.

यह भी देखें:

इस बीच, सिंध के मुख्यमंत्री के कार्यालय ने निमृता के विश्वविद्यालय (शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी) की कुलपति से कहा है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच के मद्देनजर अब विश्वविद्यालय की तरफ से कोई बयान नहीं जारी किया जाए. निमृता का शव 16 सितम्बर को उसके हॉस्टल के कमरे में मिला था.विश्वविद्यालय प्रशासन ने शुरू में मामले को खुदकुशी बताया.शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी इसकी तरफ संकेत किया गया लेकिन छात्रा के घरवालों का साफ कहना है कि यह आत्महत्या नहीं, हत्या का मामला है.