Ukraine से युद्ध के मूड में Russia: सैटेलाइट तस्वीरों में नजर आई तैयारी, Border के नजदीक बनाया Military Camp

रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि जिस तरह से रूस तैयारी कर रहा है, उससे स्पष्ट है कि वो युद्ध जैसी किसी बड़ी कार्रवाई की इच्छा रखता है. उनके अनुसार, वर्ष 2014 और 2015 के बाद से यूक्रेन की सीमा पर यह रूस का सबसे बड़ा सैन्य शक्ति प्रदर्शन है. रूस लगातार बॉर्डर पर अपने सैनिक भेज रहा है.  

Ukraine से युद्ध के मूड में Russia: सैटेलाइट तस्वीरों में नजर आई तैयारी, Border के नजदीक बनाया Military Camp
फाइल फोटो: रॉयटर्स

मॉस्को: रूस (Russia) और यूक्रेन (Ukraine) के बीच जहां युद्ध (War) के आसार बढ़ते जा रहे हैं. वहीं, इस युद्ध के विश्व युद्ध बनने की आशंका भी बढ़ गई है. इस बीच, सैटेलाइट तस्वीरों से पता चला है कि रूस ने क्रीमिया (Crimea) में एक नया मिलिट्री बेस स्थापित किया है. इस बेस कैंप पर रूस ने भारी सैन्य साजो-सामान के साथ हजारों सैनिकों को तैनात किया है. यह स्थान यूक्रेनी सीमा से करीब 280 किलोमीटर की दूरी पर है. माना जा रहा है कि इस शिविर से सैनिकों को सीमा के और नजदीक भेजा जाएगा. 

15 March से पहले खाली था इलाका

जर्मन अखबार ‘डेर स्पीगेल’ ने सैटेलाइट तस्वीरें (Satellite Images) जारी की हैं, जिसमें रूसी सैन्य अड्डा साफ नजर आ रहा है. यह कैंप यूक्रेनी सीमा से सड़क मार्ग से लगभग 280 किलोमीटर की दूरी पर है और यहां रूसी सेना की 58वीं ब्रिगेड तैनात है. इससे पहले विशेषज्ञों ने दावा किया था कि 58वीं ब्रिगेड के अलावा, रूसी सेना की 291वी आर्टिलरी और 136वीं मोटराइज्ड ब्रिगेड भी क्रीमिया में तैनात की गई है. यह भी कहा जा रहा है कि 15 मार्च तक यह इलाका पूरी तरह से खाली था. 2 अप्रैल से यहां सैनिकों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हुआ और अब ये क्षेत्र पूरी तरह से मिलिट्री कैंप में तब्दील हो गया है.  

ये भी पढ़ें -क्या जंग की तैयारी में है North Korea? तानाशाह Kim ने दिया Nuclear Missiles दागने के लिए तैयार रहने का आदेश

अपनी ताकत दिखा रहा Russia 

रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि 2014 और 2015 के बाद से यूक्रेन की सीमा पर यह रूस का सबसे बड़ा सैन्य शक्ति प्रदर्शन है. पिछले हफ्ते ही रूस ने मॉस्को से दक्षिण पश्चिम में वोरोनिश शहर के पास एक मिलिट्री बेस बनाया था. यहीं से रूस यूक्रेन सीमा पर सैनिकों की तैनाती संबंधी मोर्चा संभाले हुए है. रूसी सेना के लगातार हो रहे इस मूवमेंट से पूरी दुनिया दहशत में है. अमेरिका सहित तमाम देशों ने रूस को उकसावे वाले कार्रवाई से बचने की सलाह दी है. अमेरिका ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि यदि रूस अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है, तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.

US- Ukraine की नजदीकी से खफा Putin

अमेरिका और यूरोपीय देशों के बढ़ते दबाव का रूस पर कोई खास असर होता नजर नहीं आ रहा है. राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने उल्टा चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि यूरोपीय देश तनाव भड़काने की कोशिश न करें. हाल ही में जर्मनी चांसलर एंजेला मर्केल को रूस ने दो टूक शब्दों में कहा था कि वह अपने देश के अंदर सेना के किसी भी मूवमेंट के लिए स्वतंत्र है. बता दें कि रूस और यूक्रेन में काफी समय से विवाद चल रहा है, लेकिन पिछले कुछ वक्त में तनाव में काफी इजाफा हुआ है. इसकी सबसे बड़ी वजह है यूक्रेन और अमेरिका की बढ़ती नजदीकी. यही वजह है कि यदि रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध होता है, तो यह विश्व युद्ध में तब्दील हो सकता है. क्योंकि अमेरिका और उसके सहयोगी देश ऐसे वक्त यूक्रेन का साथ देंगे.

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.