गली के गुंडे से खूंखार अपराधी बनने वाले मुख्तार अंसारी पर योगी का शिकंजा

एक गली के गुंडे से खूंखार अपराधी बनने वाले मुख्तार अंसारी और उसके गैंग पर किस तरह शिकंजा कसा जा रहा है. जी मीडिया की ये सुपरएक्सक्लूसिव रिपोर्ट पढ़िए..

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 12, 2020, 08:02 PM IST
    • गली के गुंडे मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ा एक्शन
    • 20 से 25 अपराधियों के खिलाफ लगे गैंग्सटर एक्ट
    • विकास दुबे प्रकरण के बाद एक्शन में है यूपी पुलिस
गली के गुंडे से खूंखार अपराधी बनने वाले मुख्तार अंसारी पर योगी का शिकंजा

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में अपराध के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संकल्प रंग ला रहा है. विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अपराध के खिलाफ निर्णायक अभियान का आरंभ हो चुका है. और इस कड़ी में पूर्वांचल के एक बड़े डॉन के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है.

यूपी में 'ऑपरेशन मुख्तार'

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के गैंग के खिलाफ बड़ा एक्शन
मुख्तार गैंग के 20 से 25 अपराधियों पर लगे गैंग्स्टर एक्ट
मुख्तार अंसारी गैंग के 7 बदमाश को पुलिस ने किया गिरफ्तार
मुख्तार अंसारी के 3 रिश्तेदारों के शस्त्र लाइसेंस किए गए रद्द
मुख्तार गैंग के शूटर प्रकाश मिश्रा, बृजेश सोनकर की संपत्ति जब्त

बड़ी खबर क्या है?

उत्तर प्रदेश की पुलिस ने माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है. जानकारी के मुख्तार अंसारी गैंग के 20-25 अपराधियों पर गैंग्स्टर एक्ट लगाया गया है. साथ ही मुख्तार अंसारी गैंग के 7 बदमाश गिरफ्तार कर लिए गए हैं.

आपको बता दें, मुख़्तार अंसारी के 3 रिश्तेदारों के शस्त्र लाइसेंस भी रद्द कर दिए गए हैं. मुख्तार गैंग के शूटर प्रकाश मिश्रा की 58 लाख की संपत्ति ज़ब्त कर ली गई है. वहीं मुख्तार गैंग के शूटर बृजेश सोनकर की 60 लाख की संपत्ति जब्त हो गई है. मुख्तार गैंग के सदस्यों को गिरफ़्तार करने के लिए पुलिस अभियान भी चला रही है.

मुख्तार गैंग पर कहां-कहां एक्शन?

1. मऊ - शूटर बृजेश सोनकर की 60 लाख की संपत्ति जब्त
2. वाराणसी- शूटर प्रकाश मिश्रा की 58 लाख की संपत्ति ज़ब्त 
3. गाज़ीपुर- करीबी  नन्हे ख़ां पर केस दर्ज, गाड़ी जब्त
4. जौनपुर- रवीन्द्र निषाद की संपत्ति जब्त करने की तैयारी
5. जौनपुर- वी नारायण की संपत्ति जब्त करने की तैयारी

मुख्तार अंसारी की 'क्राइम कुंडली'

इस गली के गुंडे जैसे अपराधी जिसने नेतागिरी में अपना दाव खेला उसकी उम्र 60 साल है. ये खुद को पूर्वांचल का बड़ा माफिया डॉन समझता है, जो दो कौड़ी का अपराधी है. मुख्तार के उपर 40 से ज्यादा मुकदमे हैं.

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इसके उपर पहला केस साल 1988 में दर्ज हुई और इसके उपर हत्या का आरोप था. साल 1990 के दशक में माफिया बनकर उभरा और साल 2005 में मऊ में दंगा भड़काने का भी ये आरोपी है. साल 2005 में इसने बीजेपी नेता कृष्णानंद राय की हत्या कर दी, ऐसा इसपर आरोप है और ये अभी जेल में बंद है.

इसे भी पढ़ें: विकास दुबे की संपत्ति की ED करेगी जांच

निश्चित तौर पर विकास दुबे प्रकरण के बाद पुलिस लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान चला रही है. ऑपरेशन क्लीन के तहत अपराध पर लगाम लगाने की तैयारी जोरो पर है. इसी बीच मुख्तार अंसारी और उसके गुंडे गैंग की मुसीबत बढ़ती ही जा रही है.

इसे भी पढ़ें: Vikas Dubey के एनकाउंटर की EXCLUSIVE ग्राउंड रिपोर्ट

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़