• 191 यात्रियों के साथ दुबई से करिपुर के लिए एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, फायर टेंडर और एंबुलेंस मौके पर
  • केरल: कोझीकोड के करिपुर हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान रनवे से फिसल गया
  • कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,07,384 और अबतक कुल केस- 20,27,075: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 13,78,106 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 41,585 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 67.62% से बेहतर होकर 67.98% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 49,769 मरीज ठीक हुए

सुशांत मामले में तीन खास किरदार हैं असली राज़दार

थर्ड डिग्री को अगर अवैध न माना जाता तो इसका इन तीन किरदारों पर इस्तेमाल सीधे ही तोते की तरह सचाई का पहाड़ा पढ़वा देता इन तीनों से - क्योंकि यही हैं इस मर्डर मिस्ट्री के असली राज़दार जो बने हुए हैं सच्चाई के परदेदार..  

सुशांत मामले में तीन खास किरदार हैं असली राज़दार

Cनई दिल्ली.    इन तीन किरदारों में एक किरदार तो सहायक की भूमिका में हो सकता है अर्थात जो आदेशों का पालन कर रहा हो सकता है और बाकी दो लोग सफेदपोश नकाबपोश सिद्ध हो सकते हैं. अब इन तीन किरदारों के सूत्र इस मर्डर मिस्ट्री से जोड़ने और इस बहुत बड़ी असलियत को बेपर्दा करने का कार्य पुलिस अर्थात बिहार पुलिस का है. कुल मिला कर कहें तो संदेह के बड़े घेरे में हैं ये तीन शख्स जो बहुत करीब थे सुशांत के.

 

ये सिद्धार्थ पीठानी है कौन?

सिद्धार्थ पीठानी एक रहस्य्मय चरित्र है जो सुशांत के इर्द-गिर्द रहस्यों को पैदा करता है. सुशांत की मृत्यु के दिन तक ये सुशांत के घर पर मौजूद था उसके बाद ये हैदराबाद निकल गया. मुंबई पुलिस ने सिद्धार्थ से क्या पूछताछ की है? और बिहार पुलिस ने सिद्धार्थ पीठानी को लेकर कोई संदेह क्यों नहीं ज़ाहिर किया? बिहार पुलिस ने सिद्धार्थ से क्या पूछताछ की या पूछताछ नहीं की? ये तमाम सवाल सिद्धार्थ के नाम के चारों तरफ घूमते हैं.

एक साल से सुशांत के साथ था सिद्धार्थ 

ऐसा कैसे हो सकता है जो बताया जा रहा है कि एक साल पहले ही ये शख्स मिला था सुशांत को और सुशांत से उसकी इतनी गहरी दोस्ती हो गई कि सुशांत उसको तुरंत घर ले आये और वह सुशांत के साथ एक साल से रह रहा था? ये कैसे सम्भव है? क्या ये रिया द्वारा सुशांत के घर योजनाबद्ध तरीके से प्लांट किया गया एक किरदार था?

दूसरा शख्स है नीरज

सुशांत सिंह राजपूत का नौकर है नीरज. ये शख्स भी योजनाबद्ध तरीके से सुशांत के घर में रिया द्वारा प्लांट किया गया एक किरदार हो सकता है क्योंकि ये वही शख्स है जो सुशांत की मृत्यु के दिन तक सुशांत के घर पर मौजूद था. ये सेवक और विशेषकर 'स्वामिभक्त' सेवक की भूमिका वाला व्यक्ति है जो कि मूल रूप से सुशांत के लिए नहीं बल्कि रिया और सिद्धार्थ पीठानी के लिए वफादार था. और अभी तक बड़ी वफ़ा से निभा रहा है अपनी 'वफादारी'. सुशांत की मौत के बाद पहली बार सुशांत के कमरे अर्थात मौक़ा ए वारदात पर जाने वाला शख्स यही था जो सिद्धार्थ के साथ कमरे के भीतर आया और जिसे 'सच्चाई' का पता है. 

तीसरा शख्स है शोविक चक्रवर्ती

शोविक चक्रवर्ती भाई है रिया चक्रवर्ती का. फिलहाल ये व्यक्ति रिया के साथ भूमिगत सुनाई देता है. दोनों का कोई पता नहीं है और इनके फ़ोन भी बंद हैं. सुशांत की मृत्यु के बाद से ये व्यक्ति भी पुलिस और  मीडिया से बचने की कोशिश में लगा है. इसके तारों के भी डबल मर्डर से जुड़ाव की जांच की जा सकती है. दिशा सालिआन से जुडी सोशल मीडिया में वायरल हो रही पोस्ट में इस व्यक्ति का उल्लेख भी किया गया है. यदि वह पोस्ट फेक है तो भी यह व्यक्ति भागता क्यों फिर रहा है? ज़ाहिर है दाल में बड़ा काला है.   

ये भी पढ़ें. सुशांत मामले में अब फंस गई मुंबई पुलिस