राम मंदिर का नाम बदलने की मांग, यहां सीता मंदिर भी बनाना चाहती है जदयू, जानें क्या बोली भाजपा

बिहार के मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता विजेंद्र यादव ने कहा कि माता सीता के मंदिर के लिए पहल क्यों नहीं की जा रही है. वहीं अयोध्या में मंदिर का नाम राम मंदिर दिया जा रहा है, जबकि उसका नाम सीता राम होना चाहिए था.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Nov 26, 2022, 01:28 PM IST
  • अयोध्या के राम मंदिर का नाम बदलने की भी हुई मांग
  • बिहार के मंत्री विजेंद्र यादव बोले, सीता राम होना चाहिए नाम

ट्रेंडिंग तस्वीरें

राम मंदिर का नाम बदलने की मांग, यहां सीता मंदिर भी बनाना चाहती है जदयू, जानें क्या बोली भाजपा

पटना: बिहार में मंदिर के नाम पर सियासत शुरू हो गई है. भाजपा और जदयू में खूब बयानबाजी हो रही है. मुद्दा है मां जानकी की जन्मस्थली सीतामढ़ी के पुरौना धाम में भव्य मंदिर बनाना. जदयू ने अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर की तरह बिहार में भी सीता माता की जन्मस्थली सीतामढ़ी में माता सीता का मंदिर बनाए जाने की मांग की है. 

क्या है जेडीयू की मांग
बिहार के मंत्री और जदयू के वरिष्ठ नेता विजेंद्र यादव ने कहा कि जिस तरह से राम मंदिर निर्माण में भाजपा नेता बढ़ चढ़कर शामिल हुए, उसी तरह माता सीता के मंदिर के लिए पहल क्यों नहीं की जा रही है. अयोध्या में मंदिर का नाम राम मंदिर दिया जा रहा है, जबकि उसका नाम सीता राम होना चाहिए था.

महिलाओं का अपमान बताया
जदयू मंत्री ने आगे कहा कि यह बिहार और मिथिलांचल की उपेक्षा है. उन्होंने कहा कि भाजपा अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराया तो उनका दायित्व बनता है कि बिहार में माता सीता के मंदिर का निर्माण कराए. यह महिलाओं के प्रति अपमान का सवाल है.

भाजपा क्या बोली
भाजपा के नेता और सांसद सुशील मोदी ने कहा कि अयोध्या श्रीराम की जन्मभूमि है और वहां पहले श्रीराम का मंदिर था, यह बात जब पुरातात्विक प्रमाणों से अदालत में सिद्ध की जा चुकी है, तब बिहार सरकार के एक मंत्री उसे सीता-मंदिर नाम देने की बात कर नया विवाद क्यों पैदा करना चाहते हैं?
मंदिर का निर्माण, नामकरण और पुनरुद्धार जैसे काम संतों-श्रद्धालुओं के हैं, भाजपा या किसी राजनीतिक दल का नहीं, लेकिन मंत्री इस पर राजनीति कर रहे हैं. श्रीराम, देवी सीता और रामायण संस्कृति का सम्मान करना केवल भाजपा का दायित्व नहीं है, लेकिन मंत्री के बयान से लगता है कि सीता-राम से जदयू और महागठबंधन सरकार का कोई वास्ता नहीं है.

उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बताएं कितनी बार वह जनकपुर गए और माता सीता के मंदिर में गए? पीएम नरेन्द्र मोदी खुद माता सीता के घर गए थे. भाजपा की सरकार ने राम जानकी हाईवे बनवाया और साथ ही अब अयोध्या से जनकपुर तक ग्रीन फोरलेन सड़क का निर्माण कराया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: Covid-like virus BtSY2: चीन के चमगादड़ों में मिला कोरोना जैसा एक और वायरस, जानें इंसानों को कैसे बनाता बीमार

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़