राहुल गांधी ने माना, आपातकाल एक भूल थी

आपातकाल पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह एक गलती थी. बिलकुल, वह एक गलती थी. और मेरी दादी (इंदिरा गांधी) ने भी ऐसा कहा था.”

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Mar 3, 2021, 06:56 AM IST
  • प्रोफेसर और भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु से की बातचीत
  • अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं बसु, राहुल गांधी से किए सवाल
राहुल गांधी ने माना, आपातकाल एक भूल थी

नई दिल्लीः कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाया गया आपातकाल एक “गलती” थी. उन्होंने कहा कि उस दौरान जो भी हुआ वह “गलत”था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु के साथ हुई बातचीत में यह स्वीकार किया है.

लेकिन उन्होंने यह भी जोड़ा कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य से यह बिलकुल अलग था क्योंकि कांग्रेस ने कभी भी देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास नहीं किया.

'मेरी दादी ने भी ऐसा कहा था'
बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि वह कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र के पक्षधर हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी, देश को उसका संविधान दिया और समानता के लिए खड़ी हुई. आपातकाल पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह एक गलती थी. बिलकुल, वह एक गलती थी. और मेरी दादी (इंदिरा गांधी) ने भी ऐसा कहा था.”

हार के डर से की घोषणा
आपातकाल पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह एक गलती थी. बिलकुल, वह एक गलती थी. और मेरी दादी (इंदिरा गांधी) ने भी ऐसा कहा था.”आपातकाल के अंत में इंदिरा गांधी ने चुनाव की घोषणा की थी.

इस बाबत प्रणब मुखर्जी ने बसु से कहा था कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्हें हारने का डर था. इस संबंध में पूछे गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि आपातकाल में जो भी हुआ वह “गलत” था और उसमें तथा आज की परिस्थिति में मूलभूत अंतर है.

यह भी पढ़िएः राहुल गांधी पर बीजेपी का वार, 'पुशअप से नहीं उठेगी कांग्रेस'

पिता राजीव गांधी की हत्या पर भी बोले 
कॉर्नेल विश्वविद्यालय के प्रोफेसर से बातचीत में राहुल गांधी कहते हैं कि इमर्जेंसी और अभी जो हो रहा है उसमें काफी अंतर है. कांग्रेस पार्टी ने संस्थानों का फायदा उठाने की कोशिश नहीं की. हमारा स्ट्रक्चर ऐसा करने की इजाजत नहीं देता है.

कौशिक बसु ने उनसे निजी सवाल करने की इजाजत मांगी और कहा कि निजी सवाल यहां नहीं करना चाहिए लेकिन मैं आपके पिता (राजीव गांधी) की हत्या के बारे में जानना चाहता हूं. इसके जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि मेरे पिता की हत्या दर्दनाक तो थी ही, लेकिन मेरे पिता कई ताकतों से लड़ रहे थे, इसलिए मैं कह सकता हूं मैंने उन्हें मौत की ओर जाते देखा.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़