झूठ पर माफी मांगने वाले राहुल देश से फिर झूठ बोल रहे हैंः संबित पात्रा

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'आज राहुल गांधी जी ने कुछ ट्वीट किया है और जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग किया है वह बहुत आपत्तिजनक है. उन्होंने कहा है कि RSS का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है. मुझे लगता है राहुल गांधी से भद्रता और अच्छी भाषा की अपेक्षा करना ही गलत है. 

झूठ पर माफी मांगने वाले राहुल देश से फिर झूठ बोल रहे हैंः संबित पात्रा

नई दिल्लीः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के पीएम मोदी के लिए किए ट्वीट पर बीजेपी ने पलटवार किया है. राहुल गांधी को झूठों का शहंशाह बताते हुए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि देश की जनता के सामने उनकी कलई खुल चुकी है. संबित पात्रा ने राहुल गांधी के आरएसएस का प्रधानमंत्री झूठ बोलता है ट्वीट को बेहद आपत्तिजनक बताया और कहा कि डिटेंशन कैंपों को लेकर कांग्रेस देश में भ्रम फैला रही है.

राहुल गांधी को पात्रा ने बताया आदतन झूठा
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'आज राहुल गांधी जी ने कुछ ट्वीट किया है और जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग किया है वह बहुत आपत्तिजनक है. उन्होंने कहा है कि RSS का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है. मुझे लगता है राहुल गांधी से भद्रता और अच्छी भाषा की अपेक्षा करना ही गलत है. उन्होंने कहा कि राफेल पर झूठ फैलाने के कारण राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट से माफी मांग चुके हैं और अब देश की जनता से झूठ बोल रहे हैं.

डिटेंशन सेंटर पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया
बीजेपी के चर्चित प्रवक्ता ने डिटेंशन सेंटर खोलने को लेकर कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि ऐसा कोई डिटेंशन कैंप नहीं है, जिसमें एनआरसी के बाद हिंदुस्तान के मुसलमानों को रखा जाएगा. इसमें प्रधानमंत्री जी ने क्या झूठ बोला है? 13 दिसंबर 2011 को केंद्र सरकार के एक प्रेस रिलीज में कहा गया था कि 3 डिटेंशन कैंप असम में खोले गये हैं.

2011 में केंद्र में कांग्रेस सरकार थी 20 अक्टूबर 2012 को असम की कांग्रेस सरकार ने श्वेत पत्र जारी किया था. इसमें पेज 38 में लिखा है कि केंद्र सरकार ने असम सरकार को यह निर्देश दिया है कि आप डिटेंशन सेंटर सेट कीजिए.

राहुल गांधी को पात्रा ने बताया अज्ञानी
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर तीखे शब्द बाण चलाते हुए कहा कि राहुल गांधी को जानना कुछ नहीं है, लेकिन बोलना सबकुछ है. उन्होंने कहा, 'किसी भी विषय पर राहुल गांधी जी को कोई ज्ञान नहीं है, मगर हर विषय पर बोलना है. इनका मकसद न तो एनपीआर का है, न सीएए का है. इनका मकसद एक है कि ये चाय वाला कैसे प्रधानमंत्री बन गया. 

हिंसा की टेंशन देने वालों पर अब एक्शन! दंगाइयों से निपटने का 'योगी मॉडल'