• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,64,944 और अबतक कुल केस- 7,42,417: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,56,831 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 20,642 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 61.13% से बेहतर होकर 61.53% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 16,883 मरीज ठीक हुए
  • डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में प्रति दस लाख आबादी पर सबसे कम मामले हैं
  • स्वस्थ होने वालों की संख्या करीब 4.4 लाख, संक्रमितों और ठीक होने वालों की संख्या का अंतर 1.8 लाख से अधिक
  • आईसीएमआर: पिछले 24 घंटे में 2.41+ लाख नमूनों की जांच की गई, कुल परीक्षणों की संख्या 1.02 करोड़ के पार
  • फिल्म निर्माण शुरू करने को लेकर सरकार जल्द ही एसओपी की घोषणा करेगी, ताकि फिल्म निर्माण में फिर से तेजी लाई जा सके
  • सीबीएसई ने छात्रों को दी बड़ी राहत, कक्षा 9वीं से 12वीं का सिलेबस घटाया गया
  • एमएचआरडी: यूजीसी और स्वयं के द्वारा "इंटरनेशनल बिजनेस" में मुफ्त ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध है
  • विश्व बैंक ने गंगा के कायाकल्प हेतु ‘नमामि गंगे कार्यक्रम’ में आवश्यक सहयोग बढ़ाने के लिए 400 मिलियन डॉलर प्रदान किए

जाहिलपन की हदः अस्पताल में नर्सों को परेशान कर रहे जमाती, सामने ही उतार रहे कपड़े

गाजियाबाद के एमएमजी में भर्ती जमाती लगातार अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं. इतना ही नहीं, ये लोग नर्सों के सामने ही कपड़े बदलने के लिए कपड़े खोल देते हैं. जानकारी के मुताबिक अब जिला प्रशासन इन लोगों को जेल की बैरक में बंद करने पर विचार कर रहा है.

जाहिलपन की हदः अस्पताल में नर्सों को परेशान कर रहे जमाती, सामने ही उतार रहे कपड़े

नई दिल्लीः तबलीगी जमात के लोगों ने कोरोना संकट के बीच देशभर के लोगों की जान को खतरे में डाल ही दिया है, लेकिन अब वे इलाज के दौरान भी तमात चुनौतियां और परेशानियां खड़ी कर रहे हैं. खबरों के अनुसार जमात के लोग जो कर रहे हैं वह जाहिलपन की पराकाष्ठा है. एक तरफ डॉक्टर और नर्स के साथ तमाम हेल्थ वर्कर्स कोरोना मरीजों की जान बचा रहे हैं. दूसरी तरफ तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध जाहलिपने पर उतर आए हैं. 

नर्सों को कर रहे परेशान, एमएमजी अस्पताल में अराजकता
गाजियाबाद के एमएमजी में भर्ती जमाती लगातार अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं. इतना ही नहीं, ये लोग नर्सों के सामने ही कपड़े बदलने के लिए कपड़े खोल देते हैं. जानकारी के मुताबिक अब जिला प्रशासन इन लोगों को जेल की बैरक में बंद करने पर विचार कर रहा है.

बार-बार कर रहे हैं हंगामा
अस्पताल के सीएमएस रविंद्र राणा ने बताया कि तबलीगी जमात से जुड़े जो कोरोना संदिग्ध भर्ती किए गए हैं, उनका व्यवहार बहुत गलत है. रविंद्र राणा ने बताया कि जमाती लगातार अश्लील अश्लील कर रहे हैं. ये लोग अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार करते हैं, नर्सों के सामने ही कपड़ा बदलने लगते हैं और छोटी-छोटी बात पर हंगामा करते हैं.

दिल्ली में जमातियों ने टेस्ट से किया इनकार
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकाले गए लोग देश के विभिन्न राज्यों के अस्पतालों में भर्ती हैं. इनमें से बड़ी संख्या में दिल्ली और गाजियाबाद में भी जमात में शामिल होने वाले लोग भर्ती हैं. इन लोगों ने गुरुवार को दिल्ली और गाजियाबाद दोनों जगह हंगामा किया.

जहां दिल्ली में इलाज करा रहे जमातियों ने टेस्ट कराने से इनकार किया, वहीं गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल में भर्ती 5 जमातियों ने तो हद कर दी. उन लोगों ने स्टाफ नर्सों के सामने कई बार अभद्रता की और समझाने पर चिल्लाने लगे.

घर में ही पढ़ें नमाज, इसलिए भी जारी करना पड़ गया फतवा

मौके पर पहुंची पुलिस
आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के हंगामे के बाद अस्पताल के कर्मचारियों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने उन लोगों से कहा कि अगर तुम लोग शांत नहीं हुए तो सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके जेल भेज दिया जाएगा. पुलिस ने ये भी कहा कि जेल में आइसोलेशन वार्ड बन चुका है, वहीं जेल में सबका इलाज होगा.

दिल्ली में कोरोना का खतरा बढ़ा, 219 संक्रमितों में से आधे मरकज में गए लोग