आतंकी बनने के लिये घर से भागे पांच युवकों को पुलिस ने धर दबोचा

आतंक से कश्मीर को लुहूलुहान करने की साजिश में घर से भागे पांच युवकों को पुलिस ने पकड़ लिया है. सुरक्षाबलों ने समय रहते उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) से सटे उरी सेक्टर में पकड़ लिया.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 23, 2019, 03:28 AM IST
    • आतंकी बनने के लिये घर से भागे पांच युवकों को पुलिस ने पकड़ा
    • पुलवामा और शोपियां जिले के रहने वाले है सभी आरोपी
    • सभी से की जा रही है पूछताछ
    • सेना ने शुरू किया ऑपरेशन मां अभियान
आतंकी बनने के लिये घर से भागे पांच युवकों को पुलिस ने धर दबोचा

श्रीनगर:आतंक से कश्मीर को लुहूलुहान करने की साजिश में घर से भागे पांच युवकों को पुलिस ने पकड़ लिया. ये पांचों लड़के पाकिस्तान के किसी आतंकी संगठन के संपर्क में थे. जम्मू कश्मीर से धारा 370 समाप्त होने के बाद से ये लोगों को आतंकित करने की फिराक में थे.

 पुलवामा और शोपियां जिले के रहने वाले है सभी आरोपी

जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम को लागू करने के बाद यह पहला मौका है जब जेहादी बनने के लिए गुलाम कश्मीर की तरफ जा रहे पांच किशोर एलओसी के पास पकड़े गए हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार ये पांचों पुलवामा व शोपियां जिले के रहने वाले हैं. इनकी आयु 14-15 साल है.

सभी से की जा रही है पूछताछ

पुलिस इस सभी से पूछताछ कर रही है. उन्होंने बताया कि उन्हें कहा गया था कि सड़क के रास्ते उड़ी चले जाएं. वहां एक पुल और एक दरिया है. अगर पुल से मौका नहीं मिला तो दरिया के रास्ते सीमा पार चले जाएं और उन्हें कोई नहीं रोकेगा. फिलहाल, इन पांचों को काउंसलिंग की जा रही थी.

सेना ने शुरू किया ऑपरेशन मां अभियान

पिछले महीने सेना की चिनार कोर ने ऑपरेशन मां शुरू किया था. इस ऑपरेशन में चिनार कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग केजेएस ढिल्लो के निर्देश पर घरों से गायब हो चुके युवाओं का पता लगाना और उनके परिजनों से संपर्क कर उन्हें वापस घर लाना. पुलवामा हमले के बाद सेना ने घाटी में सभी माताओं से अपने बच्चों को वापस लौटने के लिए अपील करने को कहा था. इसका बहुत अच्छा असर भी हुआ था और कई आतंकी आतंक छोड़कर अपने घरों में वापस लौट आए थे.

पढ़ें- इयरफोन लगाकर चलाई स्कूल वैन, हुई 10 साल की सजा

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़