बदनसीब क्रिकेटर को 34 साल की उम्र में मिला IPL में डेब्यू करने का मौका, आंकड़े देख हैरान रह जाएंगे आप

आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला खेला गया. इस मैच में पंजाब की ओर 34 साल के जलज सक्सेना को डेब्यू करने का मौका मिला. 

Written by - Adarsh Dixit | Last Updated : Apr 18, 2021, 08:54 PM IST
  • घरेलू क्रिकेट में ऐतिहासिक रिकॉर्ड
  • एक बार BCCI पर भी निकाल चुके हैं गुस्सा
बदनसीब क्रिकेटर को 34 साल की उम्र में मिला IPL में डेब्यू करने का मौका, आंकड़े देख हैरान रह जाएंगे आप

नई दिल्ली: आईपीएल से कई खिलाड़ियों की किस्मत चमकी है इसमें कोई दोराय नहीं लेकिन शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद आईपीएल में पहला मैच खेलने के लिए कई सालों का वक्त लग जाये तो खिलाड़ी अपनी किस्मत को ही कोसेगा.

ऐसा हुआ 34 वर्षीय खिलाड़ी जलज सक्सेना के साथ.

रविवार को आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला खेला गया. इस मैच में पंजाब की ओर 34 साल के जलज सक्सेना को डेब्यू करने का मौका मिला. जलज कई सालों ने आईपीएल में खेलने का मौका खोज रहे थे लेकिन 14 साल के इंतजार के बाद 18 अप्रैल को उनका सपना पूरा हुआ.

घरेलू क्रिकेट में ऐतिहासिक रिकॉर्ड

जलज सक्सेना पिछले 15 सालों से घरेलू क्रिकेट में जबर्दस्त प्रदर्शन कर रहे हैं. 34 साल के जलज ने फर्स्‍ट क्‍लास में 6000 से ज्यादा रन और 300 से ज्यादा विकेट लिए हैं लेकिन उन्हें अबतक टीम इंडिया ने मौका नहीं दिया है.

गौरतलब है कि जलज सक्सेना को 120 फर्स्ट क्लास और 93 लिस्ट ए मैचों का अनुभव है. टीम इंडिया तो छोड़िए जलज को इतने सालों तक आईपीएल में डेब्यू का इंतजार करना पड़ा. जलज को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और दिल्ली कैपिटल्स ने अपनी टीम में शामिल किया था लेकिन दोनों ने इस खिलाड़ी को अबतक डेब्यू का मौका नहीं दिया था.

आखिर के एल राहुल को इस खिलाड़ी की प्रतिभा को सम्मानित करने की याद आयी और उन्होंने इस क्रिकेटर को आईपीएल में पहला मैच खेलने का मौका दिया.

ये भी पढ़ें- KKR vs RCB: विराट सेना ने लगाई जीत की हैट्रिक, कोलकाता को दी 38 रन से शिकस्त

एक बार BCCI पर भी निकाल चुके हैं गुस्सा

मूल रूप से मध्यप्रदेश के रहने वाले जलज सक्सेना ने एक बार BCCI पर भी अपनी भड़ास निकाली थी. ऑलराउंडर जलस सक्सेना रणजी ट्रॉफी के 2017-18 सीजन में शानदार प्रदर्शन के लिए माधव राव सिंधिया अवॉर्ड (सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज) और लाला अमरनाथ(सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर) अवॉर्ड के लिए चुना गया था. हालांकि अवॉर्ड लेने से पहले जलज ने बीसीसीआई के रवैये पर नाखुशी जाहिर की थी. 

उन्होंने कहा था कि आप मुझे अवॉर्ड तो दे रहे हैं लेकिन रिवॉर्ड नहीं दे रहे. अगर बीसीसीआई मुझे इस बात का जवाब नहीं देती कि मुझे पिछले चार वर्षों से भारत ए में भी क्यों नहीं चुना गया, तो ऐसे अवॉर्ड का क्या मतलब? जब टीम में मौका नहीं देना है तो ऐसे पुरस्कार का कोई लाभ नहीं.

इंदौर मध्यप्रदेश के जलज सक्सेना ने कई बार रणजी ट्रॉफी में अपनी टीम को ऐसे मैच जिताये हैं जो किसी करिश्मे से कम नहीं. जलज में बल्ले से भी जौहर दिखाने की प्रतिभा है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़