• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 83,004 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,51,767: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 64,426 जबकि अबतक 4,337 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • आरोग्य सेतु को ओपन-सोर्स किया गया, ऐप का Android संस्करण अब समीक्षा और सहभागिता के लिए उपलब्ध है
  • देश भर में 612 प्रयोगशालाओं में एक दिन में 1.1 लाख नमूनों का परीक्षण किया गया: आईसीएमआर
  • रेलवे ने 3274 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 44+ लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया
  • वंदे भारत मिशन के तहत 34 देशों मे 173 उड़ानों और 3 जहाजों का परिचालन किया गया
  • सीपीडब्लूडी ने कोविड-19 के दौरान एयर कंडीशनिंग के उपयोग के बारे में दिशानिर्देश जारी किया
  • सीएसआईआर-आईआईआईएम और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) मिलकर कोरोना वायरस के लिए आरटी-एलएएमपी आधारित जांच किट विकसित करेंगे
  • व्यावसायिक उद्यमों / एमएसएमई संस्थानों के लिए ईसीएलजी योजना अब परिचालन में है
  • सीबीआईसी ने 8 अप्रैल से 25 मई 2020 के बीच 11,052 करोड़ रुपये के 29,230 जीएसटी रिफंड के दावों का का भुगतान किया

Corona Virus से 'बचना' है तो शाकाहारी बनिए

सिर्फ चीन ही नहीं बल्कि कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर के लोग दहशत में जीने को मजबूर हैं. इस बीच अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी की रिपोर्ट आई है. जिसमें ये कहा गया है कि अगर आपको स्वस्थ्य रहना है तो, शाकाहारी बनिए.

Corona Virus से 'बचना' है तो शाकाहारी बनिए

नई दिल्ली: चीन दावा कर रहा है कि कोरोना वायरस चमगादड़ से इंसानों में फैला, चीन के वैज्ञानिक कहते हैं कि चमगादड़ का सूप पीने से ये संक्रमण इंसानों में पहुंच गया. आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि मांसाहार होना कितना घातक हो सकता है. शायद इसीलिए अमेरिका की एक रिपोर्ट ने दुनिया को चौंकाया है.

स्वस्थ रहना है तो शाकाहारी बनिए

अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ कार्डियोलॉजी की रिपोर्ट आई है. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि शाकाहारी लोग मांसाहारी लोगों से कहीं ज़्यादा स्वस्थ रहते हैं. कैसे, समझिए, पाचन तंत्र में कई तरह के  bacteria होते हैं जिन्हें  gut microbiota कहा जाता है. जो खाना पचाने ,पोषक तत्वों को सोखने ,ऊर्जा के स्तर और रोग प्रतिरोध में अहम भूमिका निभाते हैं. अब अगर आप मीट का सेवन करते हैं तो पेट में TMAO बनता है. यानी trimethylamine N-oxide, जिससे दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है. लेकिन अगर आप शाकाहारी भोजन करते हैं तो यही trimethylamine N-oxide बहुत कम मात्रा में बनता है और वो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक कम होता है.

Study के मुताबिक इंसानों के पाचन तंत्र में कई तरह के Bacteria होते हैं जिन्हें gut microbiota कहा जाता है जो खाना पचाने, पोषक तत्वों को सोखने, ऊर्जा के स्तर और रोग प्रतिरोध में अहम भूमिका निभाते हैं और जब आप मांसाहारी भोजन करते हैं तो पचने में काफी वक्त लगता है. इसका असर आपके दिल पर पड़ता है.

मीट से दिल की बीमारी का खतरा

विशेषज्ञों का मानना है कि नॉनवेज नहीं खाना चाहिए, इससे सेहत खराब होती है और दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है.

शरीर को नॉनवेज से कैसे नुकसान पहुंचता है?

दरअसल, मीट से पशु उत्पाद को पचाने के दौरान बने कई प्राकतिक रसायनों में से trimethylamine N-oxide एक होता है. जिसका सबंध दिल की बीमारी का जोखिम बढाने से जोड़ा जाता है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से 'संक्रमित' भारत के बाजार! भारत में महंगी होंगी दवाईयां और पिचकारी?

अमेरिका की Tulane University के Researchers समेत कई रिसर्चस का कहना है कि Vegan या शाकाहारी भोजन के जरिए शरीर में TMAO का उत्पादन कम किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें: चीन में घर से निकलोगे तो जेल जाओगे, दिल दहला देने वाला VIDEO देखें