UK PM बोरिस जॉनसन ने दी फास्टट्रैक एंट्री को मंजूरी, मिलेगा भारतीय डॉक्टरों को लाभ

ब्रिटिश सरकार ने NHS को हरी झंडी दे दी है इससे भारतीय डॉक्टरों व नर्सों को वीजा के साथ-साथ न्यूनतम वीजा शुल्क, फास्टट्रैक एंट्री और अन्य सुविधाएं का फायदा होगा.  

UK PM बोरिस जॉनसन ने दी फास्टट्रैक एंट्री को मंजूरी, मिलेगा भारतीय डॉक्टरों को लाभ

नई दिल्ली: भारतीय डॉक्टरों और नर्सों के लिए एक बड़ी खबर ब्रिटेन से आई है. ब्रिटश सरकार ने 19 दिसंबर को नए फास्टटैक वीजा सिस्टम को लागू करने की योजना पर मुहर लगा दी है. जिसके जरिए जिन भी सरकारी संस्थानों में यानी सरकारी स्वास्थ्य सेवा (NHS) में रिक्त पदों को भरा जाएगा. 

जंगल की आग में घिरा सिडनी शहर, भयावह स्थिति में है शहर लिंक पर क्लिक कर जाने कैसे लगी आग?

क्यों होगा भारत को सबसे ज्यादा लाभ
NHS में क्वालिफाई डॉक्टरों व नर्सों को त्तकालीन वीजा भी दिया जाएगा. इस प्रस्ताव को ब्रिटिश सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद सबसे ज्यादा फायदा भारतीय डॉक्टरों को ही होने की संभावना जताई जा रही है. भारत में डॉक्टरों की लंबी संख्या है और प्रति वर्ष हजारों की संख्या में भारतीय मेडिकल कॉलेजों से क्वालिफाई डॉक्टर व नर्स डिग्री लेकर निकलते हैं. बता दें कि वर्तमान ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इसका ज्रिक अपने चुनावी अभियान के दौरान किया था और प्रधानमंत्री के पद को संभालते ही बोरिस अपने किए गए वादों को पूरा करने में लग चुके हैं. 

भारत ने अमेरिका के समक्ष एच-1 वीजा का मुद्दा उठाया, लिंक पर क्लिक कर जाने मुद्दे से जुड़ी पूरी जानकारी.

इसके साथ ही अन्य फायदे भी
बोरिस जॉनसन के साथ ही ब्रिटेन की महारानी ने भी अपने भाषण में इसका उल्लेख किया था. भाषण के दौरान क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय ने बोरिस के प्रतिनिधित्व वाली नवनिर्वाचित कंजरवेटिव पार्टी के संसदीय एजेंडे को पेश किया था. फास्टटैक वीजा सिस्टम से डॉक्टरों व नर्सों को आसानी से वीजा मिल सकेगा. इसके साथ ही सामान्य प्रवासियों के लिए भी ऑस्ट्रेलिया की तरह ही अंक आधारित आव्रजन तंत्र लागू करने का भी उल्लेख किया गया. इसे भी बोरिस जॉनसन ने अपने चुनावी एजेंडे में शामिल किया था.