दिल्ली में फिर से लगी आग, 9 लोगों की झुलसकर मौत

15 दिनों के अंदर दिल्ली में आगजनी की दूसरी घटना सामने आई है. जिसमें नौ लोगों की मौत की खबर है. इसके पहले भी 7 दिसंबर को दिल्ली की अनाज मंडी में आग लगी थी. जिसमें 45 लोगों की मौत हो गई थी.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 23, 2019, 01:42 PM IST
    • फिर लगी दिल्ली में आग
    • कपड़ा गोदाम में आग
    • 9 लोगों की मौत
    • रविवार देर रात लगी थी आग
दिल्ली में फिर से लगी आग, 9 लोगों की झुलसकर मौत

दिल्ली: दिल्ली के किराड़ी इलाके में आग लगने से 9 लोगों की मौत हो गई. ये आग ग्राउंड फ्लोर पर स्थित कपड़े के गोदाम में लगी थी. 

ये थी हादसे की वजह 
किराड़ी के जिस मकान में आग लगी वह दो मंजिला था. जिसके नीचे के फ्लोर पर कपड़े का गोदाम था. गोदाम में शॉर्ट सर्किट की वजह से कपड़े ने आग पकड़ लिया. जिसके बाद आग भड़क गई. 
आग की लपटें फैलते हुए उपर के फ्लोर तक पहुंच गई. जिसकी वजह से लोगों को भागने का मौका भी नहीं मिला. घटना के समय मकान में 13 लोग मौजूद थे. जिसमें से 9 लोगों की मौत हो गई. 

दमकल विभाग ने की पूरी कोशिश 
जिस मकान में आग लगी उसके मालिक का नाम रामचंद्र झा है. दमकल विभाग को रविवार देर रात करीब 12:30 बजे खबर मिली कि  किराड़ी स्थित इंदर एन्क्लेव फेस -1 , डी ब्लॉक गली नंबर 4 मकान नंबर 206 में आग लग गई. जिसके बाद दमकल विभाग और पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे व आग पर काबू पाने की कोशिशें शुरु कर दीं. 

आग बुझाने में दमकल की कुल 7 गाड़ियां लगी हुई थीं. आग पर काबू पाने के दौरान कई लोगों को बाहर निकाल लिया गया. लेकिन उनमे से 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी. जबकि 6 लोग अचेत थे. जिन्हें आस पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया. बाद में इसमें से पांच लोगों की मौत हो गई.  हादसे के समय मकान में करीब 13 लोग मौजूद थे. जान गंवाने वालों में कई महिलाएं और मासूम बच्चे भी हैं. 

बिहार के निवासी थे मृतक

मरने वालों के नाम मकान मालिक रामचन्द्र झा, सुदरिया देवी, सन्दू झा, उदय चौधरी, मुस्कान , अंजली, आदर्श और तुलसी बताए जा रहे है. जान गंवाने वाले सभी लोग बिहार के मधुबनी जिले के रहने वाले हैं. दिल्ली सरकार ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं. 

बताया जा रहा है कि आग लगने की वजह से बिल्डिंग में गैस सिलेंडर में ब्लास्ट भी हुआ था. मरने वाले लोगों में मकान मालिक और किरायदार के परिवार वाले हैं. ये सभी लोग ऊपरी मंजिल पर अपने-अपने घरों में सो रहे थे. इनमें बच्चे, बुजुर्ग और महिलाएं थीं. इन्हें भागने का भी मौका नहीं मिला.

7 दिसंबर को भी हुआ था हादसा
इससे पहले 7 दिसंबर को दिल्ली के रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी में भीषण आग लगी. इस घटना में 43 लोगों की मौत हो गई थी. यहां भी आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट ही थी. वहां तीन मंजिला इमारत में सुबह 5-6 बजे के करीब भीषण आग लग गई थी, उस वक्त सभी लोग सो रहे थे और अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने से हुई थी.

ये भी पढ़ें- करतारपुर में ट्रेन में आग

ये भी पढ़ें- फर्नीचर मार्केट में आग

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़