नकली सोशल मीडिया अकाउंट से दिल्ली में फैलाई गई हिंसा

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आग लगाने में फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट का बड़ा हाथ है. दिल्ली पुलिस ने ऐसे पांच दर्जन से ज्यादा सोशल मीडिया अकाउंट्स की पहचान की है. जिनके जरिए हिंसा भड़काने की साजिश रची जा रही थी.   

नकली सोशल मीडिया अकाउंट से दिल्ली में फैलाई गई हिंसा
फर्जी संदेशों से फैलाई जा रही है हिंसा

नई दिल्ली: राजधानी की पुलिस ने 60 ऐसे फेसबुक अकाउंट, ट्विटर हैंडल और व्हाट्सएप ग्रुप की पहचान कर ली है. जिनके जरिए राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा भड़काई जा रही थी. सोशल मीडिया का इस तरह दुरुपयोग करने वालों के  खिलाफ दिल्ली पुलिस एक्शन में आ गई है. 

कई लोगों की हुई पहचान 
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ऐसे 90 लोगों की पहचान कर ली है, जो सोशल मीडिया पर गलत पोस्ट डालकर लोगों को भड़का रहे हैं. ये लोग 60 सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे थे. जिसके खिलाफ सोशल मीडिया कंपनियों को शिकायत की गई थी. दिल्ली पुलिस लिखित शिकायत के बाद नफरत फैलाने वाले ये सभी ट्विटर, फेसबुक और इन्स्टाग्राम अकाउंट बंद किए जा रहे हैं. 

पुलिस करने जा रही है कड़ी कार्रवाई 
दिल्ली पुलिस ने 60 के करीब फेसबुक (Facebook), ट्विटर (Twitter) और व्हाट्सएप (WhatsApp) ग्रुप की पहचान की है ,जिनसे भड़काने वाले मैसेज शेयर किए गए. लिहाजा दिल्ली पुलिस ने इन 60 एकाउंट्स को बंद करने के लिए लिखा है . दावा किया गया है कि ये लोग अफवाहों को फैलाने में लगे थे. जल्द ही ऐसे लोगों पर पुलिस लीगल एक्शन भी लेने जा रही है.

व्हाट्सएप्प बना हिंसा फैलाने का जरिया
दिल्ली पुलिस ने सैकड़ों ऐसे व्हाट्सएप अकाउंट रखने वाले लोगों की भी पहचान की है. जो कई दिनों से लगातार फर्जी संदेशों को लगातार कई ग्रुपों में भेज कर रहे हैं.  स्पेशल सेल की टीम के रडार पर सैकड़ों ऐसे अकाउंट भी हैं जिन्होंने जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म किए जाने के बाद हिंसा फैलाने के लिए अफवाहों का बाजार गर्म करने की कोशिश की थी. उन्हीं अकाउंट्स से अब दिल्ली में भी हिंसात्मक गतिविधियां भडकाते हुए दंगे कराए जाने की साजिश रची जा रही है. 

दिल्ली पुलिस लगातार आम लोगों से सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील कर रही है. अब तक कई फर्जी अकाउंट बंद कराए जा चुके हैं. बाकियों के खिलाफ भी जल्दी ही कार्रवाई की जाएगी.