पाकिस्तान के लोगों को इजरायल जाने की इजाजत नहीं, पासपोर्ट पर है ये चेतावनी, जानिए क्यों?

इजरायल ने अपने 72 साल के इतिहास में 52 से अधिक युद्ध लड़े हैं, उसकी जांबाजी का हर कोई कायल है.

Written by - Akash Singh | Last Updated : May 16, 2021, 10:02 AM IST
  • फिलिस्तीन के साथ चल रही है जंग
  • सैकड़ों लोगों की अबतक जा चुकी है जान
पाकिस्तान के लोगों को इजरायल जाने की इजाजत नहीं, पासपोर्ट पर है ये चेतावनी, जानिए क्यों?

नई दिल्लीः इजरायल और फिलिस्तीन के बीच चल रहे खूनी खेल के छींटे इतिहास में दर्ज कई किस्सों को फिर से ताजा कर रहे हैं. कई कहानियां फिर से लोगों की जुबान पर चढ़ने लगी हैं. कई यादें जो समय के साथ पुरानी हो गई थी वो आज फिर नई से लगने लगी हैं. ऐसी तमाम कहानियों में से एक है इजरायल की दोस्ती और दुश्मनी का किस्सा. इजरायल से प्यार करने और नफरत करने वालों का किस्सा.  

72 साल पुराने इस देश ने 52 से ज्यादा युद्ध लड़े हैं. चारों तरफ दुश्मन देशों से घिरे इस छोटे से देश की जांबाजी और इसकी ताकत का हर कोई कायल है. इजरायल की एक खूबी रही है कि वो अपने दुश्मनों को कभी नहीं छोड़ता. किसी कीमत पर भी नहीं. इसकी इस खूबी के अनगिनत उदाहरण भी है. लेकिन इस देश की इस अदा ने कई दुश्मन देश भी बनाए हैं.

इजरायल की दुश्मनों की फेहरिस्त बहुत लंबी है लेकिन इजरायल का एक दुश्मन ऐसा भी है जिसकी नफरत का अंदाज भी निराला है. कभी इजरायल ने उससे पक्के दुश्मन की तरह व्यवहार भी नहीं किया लेकिन उसने इजरायल से ऐसी नाराजगी है कि उसका जवाब नहीं. दरअसल, हम बात कर रहे हैं अपने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की. जो इजरायल को न पसंद करता है और न ही दूसरों को करने देता है.

इजरायल जाने पर भी लगा रखी है रोक
पाकिस्तान को इजरायल से इस कदर नफरत है कि उसके पासपोर्ट पर लिखा होता है कि- इजरायल को छोड़कर यह दस्तावेज सभी देशों के लिए मान्य है. पाकिस्तान के नागरिक खुद चाहकर भी इजरायल नहीं जा सकते हैं. वहीं बताते हैं कि इजरायल में पाकिस्तानियों के लिए ऐसी कोई पाबंदी नहीं है.

कई मीडिया रिपोर्ट्स में जिक्र है कि पाकिस्तानियों ने अपनी इजरायल जाने की इच्छा जाहिर की है लेकिन वह चाहकर भी अपनी इस इच्छा को पूरा नहीं कर सकते.खबरें यहां तक हैं कि ‘पाकिस्तान के लोग इजरायल को दोस्त नहीं मानते हैं, वो उसे ऐसा दुश्मन मानते हैं जो मुस्लिमों पर हिंसा के लिए जिम्मेदार है. उसके झंडे जला तक दिए जाते हैं. पाकिस्तान इजरायल को देश ही नहीं मानता है.

इमरान ने खुलकर इजरायल पर बोला हमला
इजरायल और फिलिस्तीन के बीच रही मौजूदा लड़ाई में जहां एक ओर दुनिया के कई देश दोनों देशों से शांति बनाए रखने की अपील कर रहे हैं तो वहीं पाकिस्तान सीधे तौर पर फिलिस्तीन के साथ खड़ा है.

उसने सीधे तौर पर इस हमले के लिए इजरायल को कटघरे में खड़ा किया है. वहीं, 57 मुस्लिम देशों के संगठन ने भी इजरायल के कदम की आलोचना की है.

यह भी पढ़िएः UIDAI का ऐलान, कोरोना से जुड़ें किसी भी काम के लिए जरूरी नहीं है आधार

मुश्किल वक्त में भारत के साथ खड़ा रहा है इजरायल
इजरायल और भारत दोनों लगभग एक ही समय पर आजाद हुए हैं. दोनों देशों में आधिकारिक संबंध बनने में भले ही दशकों का वक्त लगा हो, लेकिन इतिहास की घटनाएं बताती हैं कि मुश्किल वक्त में इजरायल भारत के साथ खड़ा रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इजरायल ने भारत को 1971 और कारगिल में पाकिस्तान के साथ युद्ध में मदद पहुंचाई है.

छोटा लेकिन ताकतवर देश है इजरायल
इजरायल की बात करें तो यह दुनिया के छोटे देश की सूची में शुमार है लेकिन शक्तिशाली देश के तौर पर जाना जाता है. दूसरे विश्व युद्ध में नरसंहार झेलने वाले यहूदी लोगों ने अपना एक नया स्वतंत्र देश बनाया था, जिसे इजरायल नाम दिया गया. ये मध्यपूर्व का एक ऐसा देश है. यहां की सेना और खुफिया एजेंसी की ताकत को अमेरिकी भी दुनिया में सबसे मजबूत मानता है.

यह भी पढ़िएः अमेरिकी राष्ट्रपति ने की इजरायल-फिलिस्तीन के प्रधानमंत्रियों से चर्चा, अब्बास ने की हस्तक्षेप की मांग

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़