बिलावल भुट्टों ने मियां इमरान को दुत्कारा!

पाकिस्तान पीपल पार्टी के नेता बिलावल भुट्टों ने पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम इमरान खान के खिलाफ जमकर जहर उगला है. उन्होंने इस दौरान पाकिस्तान सरकार को दहशतगर्दों की सरकार बताया.

बिलावल भुट्टों ने मियां इमरान को दुत्कारा!

नई दिल्ली: पाकिस्तान की पाकिस्तान पीपल पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो ने पाकिस्तान की इमरान सरकार को आड़े हाथ लिया. उनके ये बोल रावलपिंडी में 27 दिसंबर को आयोजित एक बड़ी रैली की. उनका दर्द इस बात से समझा जा सकता है कि इस रैली के आयोजन की इजाजत उन्हें लाहौर हाईकोर्ट से लेनी पड़ी.

इमरान को बिलावल भुट्टों ने दुत्कारा

बिलावल भुट्टो ने कहा है कि 'मीडिया आज़ाद नहीं, ज्यूडिशरी पर हमले हो रहे हैं. संवैधानिक संस्थाओं पर हमले हो रहे हैं, सूबों से उनका हक छीना जा रहा है.'

दरअसल, रावलपिंडी के लियाकत बाग में 12 साल पहले बिलावल की मां और पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या कर दी गई थी. बिलावल ने उनकी पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए पार्टी की ये रैली बुलाई थी. हुकूमत पर बरसने वाले यही बिलावल अपनी मां की याद में भावुक हो जाते हैं. पिछले साल इसी मौके पर उन्होंने अपनी मां की याद में कुछ पंक्तियां गुनगुनाई थीं.

इमरान सरकार को बताया दहशतगर्दों की सरकार

अपनी मां को लेकर भावुक बिलावल सियासी विरोधियों को नहीं छोड़ते. लियाकत बाग के इस मैदान में शुक्रवार को बिलावल ने इमरान सरकार को दहशतगर्दों की सरकार बताया.

बिलावल भुट्टो ने कहा कि 'दहशगर्दों की शिकस्त जरूर होगी, पर फिलहाल मुल्क में आग फैली है, इस सर्द मौसम में लाखों लोगों से छत छीना जा रहा है. बेनजीर इनकम सपोर्ट प्रोग्राम से 8 लाख लोगों को निकाला गया, ये दुश्मनी नहीं तो और क्या है?'

इसी मैदान में हुई थी बेनजीर की हत्या

बिलावल पाकिस्तान की अदावत वाली सियासी फितरत की बात कर रहे हैं जिसकी शिकार उनकी मां पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर हुई थीं. बेनजीर भुट्टो पाकिस्तान में लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए पहले प्रधानमंत्री जुल्फिकार अली भुट्टो की बेटी थीं. बेनजीर की हत्या इसी लियाकत बाग मैदान पर एक राजनैतिक रैली के दौरान की गई थी. जिसमें आत्मघाती बम और गोलीबारी से दोहरा हमला किया गया था. पूरब की बेटी के नाम से जानी जाने वाली पाकिस्तान की पहली महिला पीएम बेनजीर की हत्या आज भी राज बनी हुई है. उनकी हत्या को अब लंबा अरसा हो चुका है मगर वहां की एजेंसियां ये तक नहीं पता कर पाईं कि आखिर उनकी हत्या के पीछे क्या कारण था.

इसे भी पढ़ें: कश्मीर पर हर जगह से 'लतियाये' जाने के बाद भी चुप नहीं हो रहे हैं इमरान

1987 में बेनजीर की शादी आसिफ अली जरदारी के साथ हुई थी. बेनजीर भुट्टो के तीन बच्चे हैं. पहला बेटा बिलावल और दो बेटियां बख्तावर और और असीफा. बिलावल अपनी मां को याद कर कई बार भावुक हो जाते हैं. बिलावल आज पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी नेताओं में शामिल हैं. क्या रावलपिंडी का ये लियाकत बाग बिलावल को उनकी मां जैसी सियासी बुलंदी दे पाएगा?

इसे भी पढ़ें: पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर का ये मजाक सुनकर आ जाएगी हंसी