पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर का ये मजाक सुनकर आ जाएगी हंसी

पाकिस्तान के हुक्मरान तो हुक्मरान आजकल पूर्व क्रिकेटर भी अपने मुल्क की औकात भूल चुके हैं. तभी तो पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी ने ICC से भारत को बायकॉट लगाने की मांग कर दी. ये वाकई किसी मजाक से कम नहीं है.

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर का ये मजाक सुनकर आ जाएगी हंसी

नई दिल्ली: भारत से हर मोर्चे पर शिकस्त खाए पाकिस्तान की खीझ लगातार जाहिर हो रही है. अब खेल के मैदान पर वो अपना गुस्सा उतार रहा है. पाकिस्तान टीम के पूर्व खिलाड़ी जावेद मियांदाद ने भारत को लेकर आग उगली है. 

मियांदाद के दाद देने वाले हंसगुल्ले

ये ऐसी आग है जिस पर आपको खुलकर हंसी भी नहीं आएगी. अब जावेद मियांदाद ने भारत को असुरक्षित बताते हुए आईसीसी से भारत क्रिकेट बोर्ड के बायकॉट करने की अपील की है. पाकिस्तान के एक और शेखचिल्ली जावेद का कहना है भारत सुरक्षित नहीं है. इसलिए यहां किसी देश की टीम को नहीं आना चाहिए और कोई भी देश भारत को खेलने के लिए ना बुलाए.

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने कहा है कि 'इन जैसे लोगों को तो बुलाना नहीं चाहिए. मैं आईसीसी को कहता हूं कि आप ऐसी टीमों को किसी देश में ना बुलाएं, जिस कंट्री में रेसिज्म चल रहा है. स्पोर्ट्स वालों को ये बाते उठानी चाहिए कि कोई भी कंट्री वहां नहीं खेलेगी क्योंकि इंडिया इज ए नॉट सेफ कंट्री, लुक एट वाट इज गोइंग ऑन इन इंडिया.'

छलका मियांदाद का दर्द

वैसे भी भारत के मोस्ट वांटेट, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के समधि जावेद मियांदाद अक्सर भारत और भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ अनाप-शनाप बोलते रहने के आदी हैं. उनका असल दर्द इस लाइन से मालूम पड़ता है, जिसमें वो भारत को सेफ नहीं बताते-बताते पाकिस्तान का नाम लेते हैं.

दरअसल, अपनी करतूतों के कारण बदनाम पाकिस्तान में कोई भी बड़ा देश खेलने को राजी नहीं है. अभी ज्यादा दिन नहीं हुए जब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आयोजन बड़ी मुश्किलों में किया था. इसके लिए उसे एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा था. क्योंकि श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने पाकिस्तान को असुरक्षित बताते हुए टेस्ट के लिए वहां जाने से इनकार कर दिया था. लेकिन इस आयोजन के बाद पीसीबी को उम्मीद थी कि बांग्लादेश उसके साथ टेस्ट सीरीज खेलने पाकिस्तान का दौरा करने को राजी हो जाएगा. मगर, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने भी पीसीबी की इस मांग को ठुकरा दिया, और पाकिस्तान से अलग किसी दूसरी जगह इसे आयोजित करने की मांग कर डाली.

पाकिस्तान ने इसकी वजह भी बांग्लादेश पर भारत का दबाब करार दिया है. क्योंकि, इससे पाकिस्तान जिस तरह अपने किए की सजा भुगत रहा है उसका दर्द देखिए-

मिसबाहुल हक़ की दुहाई

पीसीबी हेड को चीफ सेलेक्टर मिसबाहुल हक़ का कहना है कि बांग्लादेश टीम का यहां आना बहुत ज़रूरी है, उनका ना आना बहुत बड़ा दुख है. अगर वो नहीं आते, तो देयर इज नो एक्सक्यूज, कोई बहाना नहीं है. यहां टीमें आ रही हैं, खेल कर जा रही हैं. मेरे ख्याल में ये पाकिस्तान के लिए बहुत बड़ी ज्यादती होगी. हम वैसे भी टेस्ट बहुत कम खेलते हैं. हमें रेगुलर बेसिस पर और टेस्ट चाहिए. अगर ये नहीं होगा तो हमारे खिलाड़ी कैसे ट्रेंड होंगे?'

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में हिन्दू खिलाड़ियों को सताया जाता था!

अब मिर्ची लगे पाकिस्तान ने अपनी शर्म छुपाने के लिए अपनी झेंप अपनी खीझ मिटाने के लिए आईसीसी से भारत के खिलाफ अपील करने की गुस्ताखी कर रहा है.

इसे भी पढ़ें: योगी के मंत्री बोले- दानिश कनेरिया का भारत में स्वागत,चाहें तो मिल सकती है नागरिकता