बांग्लादेश की राजधानी ढाका में सरस्वती 'पूजा पर संग्राम'

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में छात्रों ने सड़कों पर संग्राम शुरू कर दिया है. इसके पीछे की वजह सरस्वती पूजा के चलते हिन्दू समुदाय के लोगों ने नगर निगम चुनावों की तारीख बदलने की अपील की थी, जिसे ढाका हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में सरस्वती 'पूजा पर संग्राम'

नई दिल्ली: बांग्लादेश की राजधानी ढाका में मां सरस्वती की पूजा को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. लोग सड़कों पर उतर आए हैं. ढाका यूनिवर्सिटी के छात्रों ने ढाका के सबसे व्यस्त इलाके शाहबाग की सड़कें जाम कर दी. दरअसल ढाका में 30 जनवरी को दो नगर निगमों में चुनाव होने हैं और उसी दिन सरस्वती पूजा भी है. बांग्लादेश के हिन्दू नागरिक 30 जनवरी को होने वाले नगर निगम चुनावों की तारीख बदले की मांग कर रहे हैं.

बांग्लादेश की सड़कें जाम, सरस्वती पूजा पर संग्राम

बांग्लादेश की राजधानी ढाका की सड़कें प्रदर्शनकारियों से भरी हुई हैं. ढाका के शाहबाग में सरस्वती पूजा को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. ढाका यूनिवर्सिटी के बच्चे अदालत के आदेश के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं. 

बांग्लादेश में सरस्वती पूजा बड़े धूम-धाम से मनाई जाती है. बांग्लादेश के ढाका में 30 जनवरी को दो नगर निगमों के चुनाव हैं और उसी दिन सरस्वती पूजा भी है.

प्रदर्शन का सरस्वती पूजा से क्या है कनेक्शन

अब आपको बताते हैं आखिर ढाका की सड़कों पर हो रहे इस प्रदर्शन का सरस्वती पूजा से क्या कनेक्शन है, और आखिर ये लोग हाईकोर्ट के किस फैसले पर नाराजगी जता रहे हैं.

चुनाव और सरस्वती पूजा एक ही दिन पर हैं, जिसकी वजह से हिन्दू समुदाय के लोगों ने चुनाव की तारीख बदलने की अपील की थी, जिसे ढाका हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया. अदालत के इसी फैसले से नाराज लोग ढाका के शाहबाग इलाके में प्रदर्शन कर रहे हैं. इन लोगों की मांग है कि दोनों निगमों की चुनाव तारीख बदली जाए.

इसे भी पढ़ें: मलेशिया को हाई-वोल्टेज झटका देने की तैयारी में भारत! पढ़ें: 3 मुख्य वजह

हाईकोर्ट के आदेश को लेकर लोगों में गुस्सा है, याचिका खारिज होने के बाद कुछ ही देर में ढाका के सबसे व्यस्त चौराहे पर ये लोग इकट्ठा हो गए. प्रदर्शनकारियों ने चुनाव आयोग को तारीख बदलने के अल्टीमेटम के साथ साथ आयोग का घेराव करने की बात कही है. दरअसल हिन्दू समुदाय का कहना है कि 30 तारीख को चुनाव की वजह से स्कूल में वोटिंग बूथ बनाए गए हैं, जिसकी वजह से सरस्वती पूजा में रुकावट होगी.

इसे भी पढ़ें: भारत में हिंसा फैलाने के लिए पाकिस्तान ने खालिस्तानी आतंकियों का नया गुट बनाया