गांधी मैदान: कांग्रेस वंशवाद की राजनीति छोड़े, तो मैं 'शहजादा' कहना छोड़ दूंगा

Last Updated: Sunday, October 27, 2013 - 15:20

ज़ी मीडिया ब्यूरो
-गरीब हिंदुओं और मुसलमानों को गरीबी के खिलाफ लड़ना है। भाजपा का एक ही मजहब है-‘इंडिया फर्स्ट’।
-सारी समस्याओं का समाधान है विकास।
-देश आज परिवर्तन चाहता है। मुझ पर कीचड़ उछाला जा रहा है। मैं कीचड़ उछालने वालों को कहना चाहता हूं कि तुम जितना कीचड़ उछालोगे कमल उतना खिलेगा।
-चाणक्य का काल स्वर्णिम काल था। चाणक्य ने देश को जोड़ा। बिहार ने सिकंदर को परास्त किया। बिहार चाणक्य की धरती है।
-इस देश को वंशवाद से बुरा लगता है। कांग्रेस वंशवाद की राजनीति छोड़ दे तो मैं ‘शहजादा’ कहना छोड़ दूंगा।
-नीतीश ने भाजपा के साथ विश्वासघात नहीं किया बल्कि बिहार की जनता के साथ विश्वासघात किया।
-नीतीश कुमार ने राममनोहर लोहिया के पीठ में खंजर भोंका है। जयप्रकाश नारायण और लोहिया जी नीतीश को कभी माफ नहीं करेंगे। नीतीश जब जयप्रकाश को छोड़ सकते हैं तो वह भाजपा को भी छोड़ सकते हैं।
-यहां के मुख्यमंत्री मेरे मित्र हैं।
-देश को जब-जब नायकों की जरूरत पड़ी। बिहार की धरती ने भगवान बुद्ध, महावीर और गुरु गोविंद सिंह को दिया। इस धरती ने जयप्रकाश नारायण को दिया।
--मोदी ने नारा दिया- हुंकार भरो-हुंकार भरो।
-नीतीश कुमार का मुंगेर दौरा रद्द। धमाकों के बाद पटना लौट रहे हैं नीतीश।
-मोदी ने अपना भाषण भोजपुरी में देना शुरू किया। बिहार के माटी के बिना देश में कवनो परिवर्तन संभव नइखे।
-धमाकों के बीच नरेंद्र मोदी मंच पर पहुंच चुके हैं। उनके साथ राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, शाहनवाज हुसैन और भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद हैं।
-मोदी अपनी ‘हुंकार’ रैली के लिए पटना पहुंच चुके हैं। धमाकों के बाद पुलिस गांधी मैदान की चप्पे-चप्पे की तलाशी ले रही है। बम निरोधक दस्ता भी पहुंच चुका है। घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है।
-धमाकों को देखते हुए मोदी की रैली होगी अथवा नहीं, इसके बारे में पार्टी की तरफ से अभी कुछ नहीं कहा जा रहा है।
-मोदी जिस मंच से भाषण देने वाले हैं, उससे 150 मीटर की दूरी पर एक धमाका हुआ है। घटनास्थल से तार और टाइमर भी बरामद हुए हैं। लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि वे क्या करें।
-लोगों में अफरा–तफरी का माहौल
-अब तक आठ धमाके हुए हैं। नौ बम निष्क्रिय किए गए। गांधी मैदान के पास छह धमाके हुए हैं। जबकि रेलवे स्टेशन के पास दो विस्फोट हुए हैं।
-पहला विस्फोट रेलवे स्टेशन के शौचालय में हुआ जिसमें एक व्यक्ति घायल हुआ। रेलवे और जीआरपी के अधिकारियों ने कहा कि पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म संख्या 10 नए बने एक शौचालय के दरवाजे के पास बम फटा। इस विस्फोट में एक व्यक्ति घायल हो गया।
-यह रेलवे स्टेशन ‘हुंकार रैली’ के आयोजन स्थल गांधी मैदान से महज दो किलोमीटर की दूरी पर है। रेलवे के पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि विस्फोट के तुरंत बाद बम निरोधी दस्ते के लोग मौके पर पहुंच गए और वहां उन्होंने दो देसी बम बरामद किए। भाजपा ने इस घटना की जांच की मांग की है और कहा है कि उसके समर्थक इससे डरेंगे नहीं।



First Published: Sunday, October 27, 2013 - 12:49


comments powered by Disqus