आपने अपनी कार तो बेच दी, लेकिन उस पर लगे FASTag का क्या होगा? यहां जानें जवाब
X

आपने अपनी कार तो बेच दी, लेकिन उस पर लगे FASTag का क्या होगा? यहां जानें जवाब

क्या आपने कभी ये सोचा है कि अगर आप अरनी कार को बेच दें तो उस पर लगे फास्टैग (FASTag) का क्या होगा? यह बहुत जरूरी सवाल है. आइए जानते हैं इस सवाल का जवाब...

आपने अपनी कार तो बेच दी, लेकिन उस पर लगे FASTag का क्या होगा? यहां जानें जवाब

नई दिल्ली: देश भर के टोल प्लाजा पर लंबी कतारों को कम करने के लिए, सरकार ने सभी चार पहिया वाहनों के लिए FASTag अनिवार्य कर रखा है. अगर कोई व्यक्ति नई गाड़ी भी खरीदता है तो उसे FASTag लेना ही होता है. लेकिन देश में फिलहल त्योहारी सीजन चल रहा है और ऐसे में कई लोग नई गाड़ी खरीद रहे हैं और अपनी पुरानी गाड़ी बेच देते हैं. ऐसे में लोगों के मन में एक सवाल बहुत जरूरी उठता है कि आपकी पुरानी गाड़ी पर लगे FASTag का क्या होगा? कहीं गाड़ी बेचने के बाद आपके अकाउंट उससे लिंक तो नहीं रहेगा? आइए जानते हैं इस सवाल का जवाब...

आपको बता दें कि आपको अपने टैग जारी करने वाले बैंक को गाड़ी बेचने के बारे में सूचित करना होगा और अपना अकाउंट बंद कराना होगा. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) की वेबसाइट पर इसकी पूरी जानकारी उपलब्ध है.

यह भी पढ़ें: जब भांग बेचना लीगल है तो गांजा बेचना जुर्म क्यों? जानिए इस सवाल का जवाब

फास्टैग क्या है?

फास्टैग एक स्टीकर होता है, जो कि गाड़ी के फ्रंट शीशे पर लगाया जाता है. जब आप किसी हाइवे पर यात्रा कर रहे होते हैं और टोल से गुजरते हैं तो वहां पर लगे स्कैनर गाड़ी पर लगे स्टीकर को डिवाइस रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक के जरिए स्कैन कर लेते हैं. इस स्कैनिंग के बाद जगह के हिसाब से पैसे आपके अकाउंट से काट लिए जाते हैं. जरूरत के हिसाब से इस फास्टैग को रिचार्ज करना पड़ता है. फास्टैग की वजह से गाड़ी को टोल पर रोकने की जरूरत नहीं पड़ती और आप बिना किसी व्यक्ति के संपर्क में आए सेफ ड्राइव कर सकते हैं.

कार बेचने पर FASTag अकाउंट बंद कराना क्यों जरूरी?

अगर आपने हाल ही में अपने वाहन को बेचकर किसी और के नाम पर ट्रांसफर किया है, तो आपको अपना फास्टैग भी डिएक्टिवेट करा देना चाहिए. ऐसा नहीं करने पर गाड़ी जिस भी टोल प्लाजा से गुजरेगी उसका पेमेंट आपके अकाउंट से कटता रहेगा. गौरतलब है कि टोल पेमेंट उस सोर्स अकाउंट से कटता है, जिससे फास्टैग अकाउंट लिंक्ड होता है. अगर आप फास्टैग अकाउंट डिएक्टिवेट नहीं करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपके कार के नए मालिक को भी कार के लिए नया फास्टैग नहीं मिल पाएगा. क्योंकि एक वाहन से केवल एक एक्टिव फास्टैग को ही लिंक किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: वाहन बीमा खरीदते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, वरना रिजेक्ट हो सकता है क्लेम

कैसे बंद होगा फास्टैग अकाउंट?

फास्टैग अकाउंट को बंद कराने के लिए सबसे आसान तरीका है कि आप अपने फास्टैग प्रोवाइडर के कस्टमर सपोर्ट से कॉन्टैकट करें और फास्टैग लिंक्ड अकाउंट को बंद या डिएक्टिवेट कराने के लिए रिक्वेस्ट डाल दें. इसके लिए आप कस्टमर केयर सर्विस पर कॉल करें. MoRTH/NHAI/IHMCL ने फास्टैग से संबंधित शिकायतों के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर 1033 लॉन्च किया हुआ है. ग्राहक किसी भी फास्टैग संबंधित समस्याओं के लिए सीधे 1033 पर कॉल करके अपना जवाब पा सकते हैं. या फिर फास्टैग से लिंक्ड मोबाइल पेमेंट ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल करें. आपके फास्टैग जारी करने वाले बैंक के मोबाइल ऐप्लीकेशन या प्रीपेड वॉलेट में लॉग इन करें और अपने फास्टैग अकाउंट को रद्द करने के स्टेप्स को फॉलो करें.

LIVE TV

Trending news