close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Maitreyi Pushpa

महिला दिवस: विजयगीत गाने से पहले विजयगीत कमाने होते हैं

महिला दिवस: विजयगीत गाने से पहले विजयगीत कमाने होते हैं

हम तो अब तक यही मानते आये हैं कि दिवस उन के मनाये जाते हैं जो कमज़ोर माने जाते हैं, जैसे हिन्दी दिवस, मज़दूर दिवस, दिव्यांग दिवस लेकिन बिलकुल ही ऐसा नहीं है क्योंकि दिवस सम्मान देने के लिये भी मनाय

प्रेम और प्रेम दिवस!

प्रेम और प्रेम दिवस!

प्रेम दिवस हर वर्ष आता है और बड़े उत्साह तथा उपहारों के साथ मनाया जाता है या यह कहूं कि सेलीब्रेट किया जाता है तो ज्‍यादा मौजूं लगेगा. प्यार सेलीब्रेट करने के लिए ही प्यार है?

ज़माने ज़माने की बात

ज़माने ज़माने की बात

मैं जिस समय की बात कर रही हूँ वह आज से कुछ ज़्यादा दूर है, ऐसा नहीं है. वह कोई पौराणिक युग या मुग़लिया सल्तनत का समय नहीं है और न अंग्रेज़ों की हुकूमत वाले दिन.

मैं प्रेमचन्द की धनिया...

मैं प्रेमचन्द की धनिया...

इस्मत चुगताई कहती हैं, 'यह मर्द की दुनिया है. मर्द ने बनाई और बिगाड़ी है. औरत एक टुकड़ा है उस दुनिया का जिसे उसने अपनी मुहब्बत और नफ़रत का ज़रिया बना रखा है.

नीरज के गीतों ने प्यार सिखाया, तब मैं छोटी लड़की थी...

नीरज के गीतों ने प्यार सिखाया, तब मैं छोटी लड़की थी...

तब मैं छोटी लड़की थी. ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ने वाली. अपनी मां के साथ ग्राम सेविका शिविर में गई थी जो सिकन्दरा नाम के गांव में आयोजित था. यह गांव जिला झांसी में आता है.

सुषमा और प्रियंका की ट्रोलिंग पर मैत्रेयी पुष्पा: स्त्री तेरे साथी कहां हैं?

सुषमा और प्रियंका की ट्रोलिंग पर मैत्रेयी पुष्पा: स्त्री तेरे साथी कहां हैं?

मैंने कहीं पढ़ा था-बताओ स्त्री के बारे में सच्चाई क्या है?