इस राज्य में दुल्हन को मिलेगा 1 तोला सोना, फेरों के समय सरकार देगी तोहफा

चुनावी मौसम में आम आदमी पर विभिन्न सरकारों द्वारा तोहफों की बारिश जारी है. इसी सिलसिले में असम की बीजेपी सरकार ने घोषणा की है कि राज्य में शादियों के दौरान दुल्हन को सरकार की तरफ से 1 तोला सोना दिया जाएगा.

इस राज्य में दुल्हन को मिलेगा 1 तोला सोना, फेरों के समय सरकार देगी तोहफा

नई दिल्ली : चुनावी मौसम में आम आदमी पर विभिन्न सरकारों द्वारा तोहफों की बारिश जारी है. इसी सिलसिले में असम की बीजेपी सरकार ने घोषणा की है कि राज्य में शादियों के दौरान दुल्हन को सरकार की तरफ से 1 तोला सोना दिया जाएगा. वर्तमान बाजार मूल्य के मुताबिक इसकी कीमत करीब 38 हजार रुपये है. असम के वित्त मंत्री हिमंता बिश्व सरमा ने राज्य का बजट पेश करने के दौरान ये ऐलान किया. इस योजना को 'अरुंधति' नाम दिया गया है. योजना का लाभ 5 लाख रुपये से कम सालाना आय वाले परिवारों को मिलेगा. राज्य सरकार ने इस योजना के लिए 300 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

आशीर्वाद के रूप में आभूषण देने की परंपरा
हिमंता बिश्व सरमा ने कहा, 'असम में वर्षों पुरानी परंपरा है कि बेटी जब अपने पिता का घर छोड़ती है तो उसे आशीर्वाद के रूप में सोने के आभूषण दिए जाते हैं. देश के दूसरे राज्यों में इसे दहेज के रूप में जाना जाता है, लेकिन असम में ये माता-पिता स्वेच्छा से बेटी के देते हैं, ताकि ये एहसास हो सके कि बेटी को उनका सपोर्ट हमेशा बना रहेगा.'

आर्थिक रूप से कमजोर पिता का साथ दिया जाए
उन्होंने आगे बताया, 'मुझे लगता है कि ये मेरी जिम्मेदारी है कि जो पिता अपनी प्रिय बेटी के लिए सोने के आभूषण नहीं खरीद सकते हैं, और उन्हें इसके लिए कर्ज लेना पड़ता है, कर्ज के जाल में फंसना पड़ता है, उन पिता का साथ दिया जाए. मुझे खुशी है कि असम के ऐसे समुदाय जहां शादी के समय सोना देने की परंपरा है, उन दुल्हनों को शादी के समय हम 1 तोला सोना देंगे. आज इसकी कीमत 38000 रुपये है.'

इस योजना को अरुंधति योजना नाम दिया गया है. बिश्व सरमान ने बताया, 'विशेष विवाह (असम) नियम, 1954 के तहत शादी का पंजीकरण कराकर अरुंधति योजना का लाभ उठाया जा सकता है. हम शादी की रस्म के दौरान लाभार्थी तक उपहार पहुंचा देंगे. ये योजना सिर्फ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए होगी, जिनकी आय 5 लाख रुपये से कम है.'