close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Huawei को बड़ी राहत, ट्रंप प्रशासन ने रोक के फैसले को 90 दिनों के लिए टाला

हुआवे के संस्थापकों ने बीजिंग में कहा है कि अमेरिका कंपनी की ताकत को कम आंक रहा है. कंपनी की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि 5G टेक्नोलॉजी में अगले दो से तीन साल तक कोई हुआवे के बराबर नहीं पहुंच पायेंगे.

Huawei को बड़ी राहत, ट्रंप प्रशासन ने रोक के फैसले को 90 दिनों के लिए टाला
ट्रंप प्रशासन के इस फैसले से अमेरिका और चीन की प्रौद्योगिकी कंपनियों पर गहरा प्रभाव होगा ऐसा माना जा रहा है. (फाइल)

वाशिंगटन: अमेरिका के अधिकारियों ने चीन की प्रौद्योगिकी कंपनी हुआवे (Huawei) पर लगाई गई रोक के फैसले को फिलहाल 90 दिन के लिये स्थगित कर दिया है. उनका कहना है कि यह स्थगन बड़े पैमाने पर होने वाली उठापटक से बचने के लिये दिया गया है. ट्रंप प्रशासन के वाणिज्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी में कहा गया है कि यह स्थगन अस्थाई है और इससे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर कंपनी पर लगाई गई रोक के फैसले में कोई बदलाव नहीं आयेगा. ट्रंप प्रशासन के इस फैसले से अमेरिका और चीन की प्रौद्योगिकी कंपनियों पर गहरा प्रभाव होगा. इसके बदले वह हुआवे को अस्थाई लाइसेंस प्रदान करेगा जिससे कि वह अमेरिकी कंपनियों के साथ व्यावसाय को जारी रख सकें.

वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने कहा कि ‘‘अस्थाई सामान्य लाइसेंस से ऑपरेटरों को व्यवसाय जारी रखने के लिये दूसरी व्यवस्था करने का समय मिल जाता है और विभाग जरूरी सेवाओं के लिये हुआवे के उपकरणों पर निर्भर अमेरिकी और विदेशी दूरसंचार कंपनियों के लिये उपयुक्त दीर्घकालिक उपाय कर सकेगा.’’ संक्षेप में कहा जाये तो यह लाइसेंस दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को मौजूदा हुआवे मोबाइल फोन और ग्रामीण ब्रांडबैंड नेटवर्क को जारी रखने की सुविधा देगा. 

उधर, हुआवे के संस्थापकों ने बीजिंग में कहा है कि अमेरिका कंपनी की ताकत को कम आंक रहा है. हुआवे के संस्थापक रेन झेंगफई ने कंपनी पर रोक लगाने के अमेरिका के प्रयासों के समक्ष कड़ा रुख अपनाते हुये कहा है कि अमेरिका कंपनी की ताकत को कम आंक रहा है. सीसीटीवी के मुताबिक रेन ने कहा, ‘‘अमेरिका के राजनीतिज्ञों के मौजूदा व्यवहार से लगता है कि वह हमारी ताकत को कम आंक रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि हुआवे के 5जी पर कोई असर नहीं होगा. जहां तक 5जी प्रौद्योगिकी की बात है अगले दो से तीन साल तक कोई हुआवे के बराबर नहीं पहुंच पायेंगे.