close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Indian Railway का बड़ा कदम, ऐसे करोड़ों यूजर्स एक्सेस नहीं कर सकेंगे IRCTC की वेबसाइट

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) की ई-टिकटिंग वेबसाइट को अब करोड़ों यूजर्स एक्सेस नहीं कर पाएंगे.

Indian Railway का बड़ा कदम, ऐसे करोड़ों यूजर्स एक्सेस नहीं कर सकेंगे IRCTC की वेबसाइट

नई दिल्ली : इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) की ई-टिकटिंग वेबसाइट को अब करोड़ों यूजर्स एक्सेस नहीं कर पाएंगे. अगर आपके सिस्टम में भी अभी विंडोज एक्सपी (Windows XP) और विंडोज सर्वर 2003 (Windows Server 2003) है तो आप आईआरसीटीसी की वेबसाइट को अपने सिस्टम पर रन नहीं कर सकेंगे. दरअसल इंडियन रेलवे ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट www.irctc.co.in को टीएलएस 1.2 पर माइग्रेट करने का निर्णय लिया है. रेलवे की तरफ से यह निर्णय वेबसाइट के सिक्योरिटी फीचर को मजबूत करने के मकसद से लिया गया है.

सिस्टम को अपग्रेड करने के बाद ही होगी एक्सेस
विंडोज एक्सपी/ सर्वर 2003 वाले यूजर्स ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करने के बाद ही वेबसाइट को एक्सेस कर पाएंगे. इससे पहले आईआरसीटीसी की तरफ से एक बयान में बताया गया था कि जो हवाई टिकट बुक करने के लिए इस प्लेटफॉर्म को यूज करेंगे उन्हें 50 लाख रुपये का ट्रैवल इंश्योरेंस मुफ्त में दिया जाएगा. इसके लिए आईआरसीटीसी यात्री से किसी तरह का शुल्क वसूल नहीं करेगी.

हवाई यात्रियों को मुफ्त में मिलेगा बीमा
बयान में यह भी बताया गया कि यह सुविधा घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों ही उड़ान के यात्रियों को मिलेगी. बीमे में एकतरफा और वापसी दोनों यात्राओं को कवर किया जाएगा. बीमे का प्रीमियम का खर्च ग्राहकों पर नहीं पड़ेगा बल्कि इसका खर्च आईआरसीटीसी की तरफ से खुद उठाया जाएगा. इसके लिए एक प्राइवेट बीमा कंपनी एग्रीमेंट किया गया है. बीमे का प्रीमियम आईआरसीटीसी की तरफ से अपने कमीशन से ही दिया जाएगा.

आपको बता दें आईआरसीटीसी रेल टिकट के साथ ही हवाई टिकट भी बुक करती है. बड़ी मात्रा में आईआरसीटीसी से रेलवे टिकट बुक किए जाते हैं. मौजूदा समय में आईआरसीटीसी की वेबसाइट से करीब 6 हजार फ्लाइट टिकट और 50 लाख रेलवे टिकट रोजाना बुक किए जाते हैं. अभी आईआरसीटीसी से रेल टिकट बुक कराने पर यात्रियों को बीमा की सुविधा देती है. इसके लिए उसे 10 लाख रुपये तक के बीमा पर 49 पैसे ज्यादा देने होते हैं.