1 अप्रैल से महंगा हो जाएगा Health Insurance, 10 परसेंट ज्यादा देना होगा प्रीमियम

Health Insurance Costly: महंगाई की एक और मार खाने लिए तैयार रहिए, क्योंकि 1 अप्रैल से आपके स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का प्रीमियम (Premium) बढ़ सकता है. ये बढ़ोतरी करीब 10 परसेंट हो सकती है.

1 अप्रैल से महंगा हो जाएगा Health Insurance, 10 परसेंट ज्यादा देना होगा प्रीमियम
बढ़ेगा हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम

नई दिल्ली: Health Insurance Costly: महंगाई की एक और मार खाने लिए तैयार रहिए, क्योंकि 1 अप्रैल से आपके स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) का प्रीमियम (Premium) बढ़ सकता है. ये बढ़ोतरी करीब 10 परसेंट हो सकती है. कोरोना की वजह से हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों ने प्रीमियम में बढ़ोतरी को अबतक रोक रखा था, लेकिन अब हजारों करोड़ रुपये के कोरोना क्लेम (Corona Claim) और IRDAI के स्टैंडर्ड नियम लागू होने के बाद कंपनियों को प्रीमियम बढ़ाने पर मजबूर होना पड़ रहा है. 

बढ़ेगा हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम

ज्यादातर कंपनियां अपने प्रीमियम को नए फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत से रिवाइज करती हैं. ऐसे में 1 अप्रैल 2021 से कंपनियां हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम बढ़ा सकती हैं. एक नजर डालते हैं उन वजहों पर जिसकी वजह से हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम बढ़ना बिल्कुल तय माना जा रहा है. 

ये भी पढ़ें- अब फटाफट क्लियर होगा चेक, RBI ने सभी बैंकों को दिया निर्देश, लागू करना होगा ये सिस्टम

 

कई बीमारियां पॉलिसी में शामिल 

पहली वजह तो ये है कि इंश्योरेंस रेगुलेटर IRDAI ने कई गंभीर बीमारियों को मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी में शामिल कर दिया है, कई ऐसी बीमारियां अब पॉलिसी में शामिल कर दी गई हैं. मानसिक दिक्कतों, जेनेटिक बीमारियों, न्यूरो संबंधी विकारों और मनोवैज्ञानिक बीमारियों को इंश्योरेंस पॉलिसी में शामिल कर लिया गया है. इसलिए बीमा का प्रीमियम बढ़ना तय है. 

कोरोना के बड़े क्लेम का बोझ 

दूसरी बड़ी वजह है हजारों करोड़ रुपये के कोरोना क्लेम. बीमा कंपनियों के पास 14 हजार करोड़ रुपये के भारी भरकम दावे आए हैं. जिसमें से 9 हजार करोड़ रुपये के दावे कंपनियां सेटल कर चुकी हैं, बाकी को सेटल किया जा रहा है. ये बीमा कंपनियों पर सबसे बड़ा बोझ है. जिसकी वसूली प्रीमियम बढ़ाकर की जाएगी.   

मेडिकल इंफ्लेशन का बढ़ना

एक बड़ी वजह है मेडिकम इन्फ्लेशन. मेडिकल के क्षेत्र में लागत 18-20 प्रतिशत बढ़ा है. इन वजहों से कंपनियों पर भार बढ़ा है. ऐसे में प्रीमियम बढ़ाना बीमा कंपनियों की मजबूरी होगी

रूम रेंट के रेश्यो में बाकी चार्ज हटेंगे

अब रूम रेंट के अनुपात में बाकी चार्जेज हटने से भी प्रीमियम पर असर पड़ेगा, पहले कंपनियां रूम रेंट के रेश्यो में बाकी खर्चों जैसे टेस्ट वगैरह पर प्रीमियम काट लेती थीं, लेकिन अब वो ऐसा नहीं कर पाएंगी. उन्हें रूम रेंट के अलावा बाकी चार्जेज भी देने होंगे. जिसकी वजह से प्रीमियम बढ़ना तय है. 

ये भी पढ़ें- Taj Mahal का दीदार हो जाएगा और महंगा, सरकार की मंजूरी के बाद दूने हो जाएंगे टिकट के दाम

LIVE TV
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.