2018 में शेयर मार्केट में निवेशकों का डूब गया इतना पैसा कि जानकर हो जाएंगे हैरान

BSE में रजिस्टर्ड सभी कंपनियों का मार्केट कैपिटल 1,44,48,465.69 करोड़ रुपये रह गया है.

2018 में शेयर मार्केट में निवेशकों का डूब गया इतना पैसा कि जानकर हो जाएंगे हैरान
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: हम नए साल में प्रवेश कर चुके हैं. ऐसे में पिछे मुड़ कर 2018 में शेयर मार्केट के हाल पर नजर दौड़ाते हैं तो एक भारी भरकम आंकड़ा सामने आता है, जिसे पढ़ने के बाद आप कुछ देर के लिए सोचने लगते हैं. पिछले साल मार्केट में बहुत उतार चढ़ाव देखने को मिला. मार्केट में उतार चढ़ाव की वजह से निवेशकों ने शेयर बाजार में अपनी 7.25 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति गंवाई है. यह संपत्ति बाजार में सूचीबद्ध सभी कंपनियों के पूंजीकरण घटने की वजह से कम हुई है.

पिछले साल के दौरान बंबई स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) में सूचीबद्ध सभी कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 7,25,401.31 करोड़ रुपये कम होकर 1,44,48,465.69 करोड़ रुपये रह गया. हालांकि, यदि BSE Sensex की बात की जाए तो यह इस दौरान 2,011.50 अंक यानी 5.90 प्रतिशत मजबूत हुआ.

29 अगस्त को सेंसेक्स ने रचा था इतिहास
सहयोगी वेबसाइट ज़ीबिज़ के मुताबिक, 2018 के दौरान सेंसेक्स 29 अगस्त को 38,989.65 अंक के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था. हालांकि, इसके बाद सेंसेक्स 2,921.32 अंक यानी 7.50 प्रतिशत गिरकर 36,068.33 अंक पर आ गया. एमके वेल्थ मैनेजमेंट के शोध प्रमुख जोसेफ थॉमस ने कहा कि साल के अंतिम दिन गिरावट में बंद होने के विपरीत सेंसेक्स ने कैलेंडर वर्ष 2018 को तेजी के साथ समाप्त किया. साल के अंतिम दिन यानी 31 दिसंबर 2018 को सेंसेक्स 8.39 अंक गिरकर 36,068.33 अंक पर बंद हुआ था.

लोकसभा चुनाव का बाजार पर दिखेगा असर
थॉमस ने कहा कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के कारण बाजार पर त्वरित असर हो सकता है लेकिन व्‍यापक स्‍तर पर फेडरल रिजर्व तथा रिजर्व बैंक की ब्याज दर नीति, कच्चे तेल के भाव, अमेरिका-चीन के जारी व्यापारिक तनाव की दिशा तथा ब्रेक्जिट आदि ही मुख्य तौर पर बाजार की दिशा तय करेंगे. सेंसेक्स की 30 कंपनियों में से 15 के शेयरों में साल के दौरान गिरावट रही. भारती एयरटेल को सबसे अधिक नुकसान हुआ. एक्सिस बैंक, हीरो मोटोकॉर्प और एनटीपीसी नुकसान में रहने वाली अन्य बड़ी कंपनियां रहीं.