close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Rail Yatri App पर अब 8 भाषाओं में सुविधाएं उपलब्ध, 1 मई से रिजर्वेशन का यह नियम भी बदला

इस बीच यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने 1 मई से कई नियमों में बदलाव किया है. नए नियम के मुताबिक 1 मई के बाद यात्री ट्रेन के प्रस्थान से चार घंटे पहले भी बोर्डिंग स्टेशन को बदल पाएंगे.

Rail Yatri App पर अब 8 भाषाओं में सुविधाएं उपलब्ध, 1 मई से रिजर्वेशन का यह नियम भी बदला
रेल यात्री एप पर फिलहाल हिंदी में ही जानकारी मिलती है. (फाइल)

नई दिल्ली: रेलयात्रा से जुड़ी विविध जानकारी और टिकट बुकिंग की सुविधा देने वाली रेलयात्री एप (Rail Yatri App) को आठ भारतीय भाषाओं में पेश किया गया है. एप पहले से हिंदी भाषा में उपलब्ध थी जिसमें अब मराठी, गुजराती, बंगाली, तमिल, तेलुगू, मलयालम और कन्‍नड़ को भी शामिल किया गया है. कंपनी ने एक विज्ञप्ति में बताया कि अभी इन भाषाओं में एप की सुविधा केवल एंड्रॉयड पर उपलब्‍ध है. जल्द ही इन्हें आइओएस और विंडोज पर भी उतारा जायेगा.

इस मौके पर कंपनी के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनीष राठी ने कहा कि रेलयात्री देश में निर्मित एप है जिसे भारतीय उपयोक्ताओं के लिये भी बनाया गया है. एप को साधारण और इस्‍तेमाल में आसान बनाने पर जोर देते हुए हमने उपयोक्ताओं की मूल भाषा में उन्हें यह सुविधा देने का विचार बनाया.

इन 5 परिस्थितियों में नहीं मिलेगा रिफंड, जानें क्या है IRCTC का टिकट कैंसिलेशन नियम

इस बीच यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने 1 मई से कई नियमों में बदलाव किया है. नए नियम के मुताबिक 1 मई के बाद यात्री ट्रेन के प्रस्थान से चार घंटे पहले भी बोर्डिंग स्टेशन को बदल पाएंगे. वर्तमान में 24 घंटे पहले बोर्डिंग स्टेशन बदलने की सुविधा उपलब्ध है, क्योंकि चार घंटे पहले चार्ज तैयार हो जाता है, जिसके बाद किसी तरह का बदलाव संभव नहीं है.

1 मई से बदल जाएंगे बोर्डिंग स्टेशन से जुड़ा यह नियम, जानें क्या है वर्तमान नियम

रेलवे ने नियम को बदल दिया है. अब चार्ट बनने तक बोर्डिंग स्टेशन बदले जा सकते हैं. इससे रेलवे के करोड़ों यात्रियों को  फायदा मिलेगा. बता दें, बोर्डिंग स्टेशन बदलने पर किसी तरह का शुल्क नहीं लगेगा. लेकिन, एक शर्त इसके साथ यह है कि 24 घंटे के भीतर बोर्डिंग स्टेशन बदल देने के बाद अगर आप किसी भी सूरत में रिफंड चाहते हैं तो रिफंड नहीं मिलेगा.

यात्रियों के पास बोर्डिंग स्टेशन बदलने के दो विकल्प होंगे. वे ऑनलाइन आईआरसीटीसी (IRCTC) की वेबसाइट से बदलाव कर सकते हैं या फिर टिकट काउंटर से भी बोर्डिंग स्टेशन बदलवा सकते हैं. इसके अलावा रेलवे इंक्वायरी नंबर 139 पर कॉल करके भी बोर्डिंग स्टेशन में बदलाव किया जा सकता है.