भगोड़े नीरव मोदी ने लंदन में शुरू किया हीरे का नया कारोबार : रिपोर्ट
Advertisement

भगोड़े नीरव मोदी ने लंदन में शुरू किया हीरे का नया कारोबार : रिपोर्ट

इंटरपोल ने जुलाई 2018 में ED और CBI के आग्रह पर नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था.

वर्तमान में नीरव मोदी लंदन के जिस अपार्टमेंट में रहता है उसकी कीमत 60 करोड़ रुपये है. (फोटो साभार ट्विटर)

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक का 2 अरब डॉलर (करीब 14 हजार करोड़ रुपये) लेकर फरार हीरा कारोबारी नीरव मोदी फिलहाल लंदन में ऐश की जिंदगी जी रहा है. पिछले दिनों मीडिया में एक खबर आई थी जिसके मुताबिक वह जिस अपार्टमेंट में रहता है उसकी कीमत करीब 60 करोड़ रुपये है और इसका किराया 16 लाख रुपये हर महीने है. ब्रिटेन के अखबार द टेलीग्राफ की शनिवार को रिपोर्ट के मुताबिक, 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में आरोपी नीरव मोदी सेंटर प्वाइंट टॉवर ब्लॉक के एक फ्लोर के आधी जगह में अपने तीन बेडरूम के फ्लैट में खुलेआम रहता है.

रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि नीरव मोदी ने फिर से हीरा कारोबार शुरू किया है. हालांकि नीरव मोदी का नाम कंपनीज हाउस में निदेशक के तौर पर सूचीबद्ध नहीं है. इंटरपोल ने पिछले जुलाई में प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय जांच ब्यूरो के आग्रह पर नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था. समाचार रिपोर्ट में दावा किया गया है कि नीरव मोदी ने कार्य एवं पेंशन विभाग द्वारा जारी नेशनल इंश्योरेंस नंबर प्राप्त कर लिया है और वह भारतीय अधिकारियों द्वारा वांछित होने के बावजूद ऑनलाइन बैंक खाते का संचालन करने में सक्षम है.

fallback

इससे पहले टेलीग्राफ द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में मोदी को लंदन में चहलकदमी करते देखा गया. वीडियो में वह हल्की मूंछों और लंबे बाल के साथ दिख रहा है. वीडियो में नीरव मोदी हर सवाल से बचता और 'नो कमेंट' कहता नजर आ रहा है. इस दौरान उसने जो जैकेट पहन रखी थी उसकी कीमत करीब 10 लाख रुपये बताई जा रही है. इधर विदेश मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि सरकार नीरव मोदी को ब्रिटेन से प्रत्यर्पित कराने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है. मंत्रालय ने कहा कि ब्रिटेन को किया गया प्रत्यर्पण अनुरोध दिखाता है कि भारत को पता है कि नीरव उस देश में है. मंत्रालय ने यह भी कहा कि ब्रिटेन नीरव को प्रत्यर्पित करने के भारत के अनुरोध पर विचार कर रहा है.

fallback

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा,'चूंकि उसे देखा गया है, इसका यह मतलब नहीं है कि उसे तत्काल भारत वापस लाया जा सकता है. इसकी एक प्रक्रिया है. हमने प्रत्यर्पण के लिए अनुरोध किया है, अब ब्रिटेन की सरकार पर है कि हमारे अनुरोध पर विचार करे और प्रत्यर्पण के लिए सीबीआई तथा ईडी की मांग पर कार्रवाई करे.' कुमार ने कहा कि सरकार उसके प्रत्यर्पण के लिए हरसंभव जरूरी कदम उठा रही है.

(इनपुट-आईएएनएस से भी)

Trending news