close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी, सेंसेक्स में 157 अंकों की बढ़त

एनएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 51.10 अंकों यानी 0.43 फीसदी की तेजी के साथ 11,847.55 पर रहा.

शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी, सेंसेक्स में 157 अंकों की बढ़त
सेंसेक्स 39,592.08 पर बंद हुआ. (फाइल)

मुंबई: घरेलू शेयर बाजार में बुधवार को लगतार दूसरे दिन तेजी का माहौल बना रहा. हालांकि, कारोबार की शुरुआत कमजोरी के साथ हुई लेकिन सत्र के आखिर में बीएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 157.14 अंकों यानी 0.40 फीसदी की बढ़त के साथ 39,592.08 पर बंद हुआ. एनएसई का प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 51.10 अंकों यानी 0.43 फीसदी की तेजी के साथ 11,847.55 पर रहा.

बंबई स्टॉक एक्सचेंच (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सत्र के आरंभ में पिछले सत्र के मुकाबले कमजोरी के साथ 39,379.13 पर खुलने के बाद 39,319.64 तक फिसला, लेकिन उसके बाद रिकवरी दर्ज की गई. सेंसेक्स दिनभर के कारोबार के दौरान 39,674.22 के ऊपरी स्तर को छूने के बाद 157.14 अंकों यानी 0.40 फीसदी की बढ़त के साथ 39,592.08 पर बंद हुआ. पिछले सत्र में सेंसेक्स 39,434.94 पर बंद हुआ था.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी कमजोरी के साथ 11,768.15 पर खुला और 11,757.55 तक फिसला. मगर बाद में संभलकर कारोबार के दौरान 11,871.85 तक उछला. सत्र के आखिर में निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले 51.10 अंकों यानी 0.43 फीसदी की बढ़त के साथ 11,847.55 पर बंद हुआ. निफ्टी पिछले सत्र में 11,796.45 पर बंद हुआ था. 

बीएसई का मिड-कैप सूचकांक 124.81 अंकों यानी 0.85 फीसदी की तेजी के साथ 14,799.20 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉल-कैप सूचकांक 66.34 अंकों यानी 0.47 फीसदी की बढ़त के साथ 14,174.83 पर रहा. बीएसई के 19 सेक्टरों में से 13 में तेजी रही जबकि छह सेक्टरों के सूचकांकों में गिरावट दर्ज की गई. सबसे ज्यादा तेजी वाले सेक्टरों में धातु (2.88 फीसदी), पावर (2.16 फीसदी), युटिलिटीज (1.83 फीसदी), आधारभूत सामग्री (1.63 फीसदी) और रियल्टी (1.48 फीसदी) शामिल रहे. बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में सूचना प्रौद्योगिकी (0.65 फीसदी), टेक (0.60 फीसदी), दूरसंचार (0.25 फीसदी), एमएफसीजी (0.03 फीसदी), कंज्यूमर ड्यूरेबल्स (0.01 फीसदी)और इनर्जी (0.01 फीसदी) शामिल रहे.