close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फ्री कुछ भी नहीं: फोन चालू रखना है तो कम से कम 75 रुपए का रीचार्ज हो सकता है जरूरी

एयरटेल के CMD सुनील भारती मित्तल मानते हैं कि इस समय मोबाइल टैरिफ, दुनिया में सबसे कम हैं लेकिन ये धीरे-धीरे बढ़ेंगे.

फ्री कुछ भी नहीं: फोन चालू रखना है तो कम से कम 75 रुपए का रीचार्ज हो सकता है जरूरी
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: भारत की टेलीकॉम इंडस्ट्री में अभी प्राइस वॉर चल रहा है. प्राइस वॉर यानी किन्हीं दो या तीन कंपनियों के बीच एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में ग्राहकों को सस्ती दरों पर फायदा देना. लेकिन सवाल ये है कि कब तक? टेलीकॉम की दिग्गज कंपनी एयरटेल के CMD सुनील भारती मित्तल मानते हैं कि इस समय मोबाइल टैरिफ, दुनिया में सबसे कम हैं. लेकिन ये धीरे-धीरे बढ़ेंगे. उन्होंने ये भी संकेत दिया की फ्री जैसा कुछ नहीं रहेगा और मोबाइल ऑपरेटर की हर सेवा के लिए कुछ न कुछ भुगतान करना होगा. मसलन, अभी फोन की इनकमिंग चालू रखने के लिए कम से कम 35 रुपए के रीचार्ज की जरूरत होती है, जो आने वाले वक्त में 75 रुपए तक हो सकता है. 

क्या कहा मित्तल ने?
एयरटेल अभी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है. एयरटेल के पास 41 करोड़ 30 लाख ग्राहक हैं. कंपनी के सीएमडी सुनील भारती मित्तल ने दावोस में चल रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दौरान मीडिया इंटरव्यू में कहा कि 2019 में तीन प्लेयर ही इंडियन टेलीकॉम बिजनेस को कंट्रोल कर सकते हैं. मित्तल ने कहा कि, आपको नेटवर्क का इस्तेमाल करने के लिए थोड़ा सा भुगतान करने की जरूरत है. पहले आप 200 से 250 रुपए में 800MB डेटा का इस्तेमाल करते थे. अब 100 रुपए में 11 से 12GB प्रतिमाह डेटा कंज्यूम कर रहे हैं. यानी आपको 10 से 11 गुना ज्यादा डेटा आधी कीमत में मिल रहा है. हालांकि, उन्होंने साफ कहा कि कीमतें बढ़ाए जाने के बावजूद डेटा की कीमतें भारत में सबसे सस्ती रहेंगी.

वोडा-आइडिया भी ला सकते हैं प्लान
मिनिमम रीचार्ज को लेकर वोडा-आइडिया भी कदम उठा सकते हैं. लाइफ टाइम वैलिडिटी जैसा ऑफर अब कोई कंपनी नहीं दे रही. नेटवर्क इस्तेमाल करने के लिए हर ग्राहक को हर महीने खर्च करना ही होगा.