टाटा स्टील को मिली वर्ष 2016-17 की 25वीं प्राइम मिनिस्टर ट्रॉफी

साल 2016-17 में बेस्ट परफॉर्म करने वाले देश के स्टील प्लांट को राजधानी में 25वीं प्राइम मिनिस्टर ट्रॉफी और स्टील मिनिस्टर ट्रॉफी प्रदान की गई. इस मौके पर टाटा स्टील लिमिटेड, जमशेदपुर वर्क्स को प्रधानमंत्री ट्रॉफी से नवाजा गया.

टाटा स्टील को मिली वर्ष 2016-17 की 25वीं प्राइम मिनिस्टर ट्रॉफी

नई दिल्ली : साल 2016-17 में बेस्ट परफॉर्म करने वाले देश के स्टील प्लांट को राजधानी में 25वीं प्राइम मिनिस्टर ट्रॉफी और स्टील मिनिस्टर ट्रॉफी प्रदान की गई. इस मौके पर टाटा स्टील लिमिटेड, जमशेदपुर वर्क्स को प्रधानमंत्री ट्रॉफी से नवाजा गया. इसके साथ ही ओवरऑल प्रदर्शन के लिए 2 करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार भी दिया गया. टाटा स्टील ने साल 2016-17 में डोमेस्टिक स्टील इंडस्ट्री में नया कीर्तिमान स्थापित किया है.

जेएसडब्ल्यू को 1 करोड़ का नकद पुरस्कार
इस मौके पर स्टील मिनिस्टर ट्रॉफी के साथ ही 1 करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार जेएसडब्ल्यू स्टील लिमिटेड विजयनगर को दिया गया. इस्पात मंत्रालय की तरफ से प्राइम मिनिस्टर ट्रॉफी और स्टील मिनिस्टर ट्रॉफी टाटा स्टील को उत्पादकता, आर्थिक, नवाचार व अनुसंधान एवं विकास के नए प्रतिमान गढ़ने के लिए दी गई. जिन स्टील प्लांट को ये ट्रॉफी प्रदान की गई, वे अन्य प्लांट के मुकाबले वित्तीय रिकॉर्ड व उत्पादकता दर्ज करने में आगे रहे.

2030-31 तक 300 मिलियन टन का लक्ष्य
विजेताओं को ये पुरस्कार केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी वीरेंद्र सिंह ने प्रदान किए. इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत दुनिया में स्टील का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश बन गया है. साल 2030-31 तक कच्चे इस्पात की क्षमता को 300 मिलियन टन रखने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. उन्होंने बताया कि घरेलू इस्पात को बढ़ावा देने के लिए पिछले कुछ सालों में कई कदम उठाए गए हैं. इसके अलावा कर्मचारियों की सुरक्षा पर विशेष जोर दिया गया है.

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री ने विजेताओं को बधाई दी. उन्होंने कहा कि ट्रॉफी के रूप में दिया गया सम्मान भविष्य में आगे बढ़कर काम करने के लिए प्रोत्साहित करेगा. भारतीय इस्पात उद्योग ने पिछले कुछ सालों में भारी उतार-चढ़ाव देखे हैं. इस्पाल इंडस्ट्री में उत्कृष्टता और शानदार प्रदर्शन के लिए इन पुरस्कारों की शुरुआत वर्ष 1992-93 में की गई थी. इस बार 2016-17 के लिहाज से यह 25वां वर्ष था जब प्रधानमंत्री ट्रॉफी प्रदान की गई. इससे पहले भी टाटा स्टील इस पुरस्कार से कई बार नवाजा जा चुका है.