Vande Bharat को लेकर आई खुशखबरी, यात्रियों को जल्द मिलेगी ये बड़ी सुविधा, सफर होगा और आसान
topStories1hindi1466198

Vande Bharat को लेकर आई खुशखबरी, यात्रियों को जल्द मिलेगी ये बड़ी सुविधा, सफर होगा और आसान

Vande Bharat train: भारतीय हाई-स्पीड ट्रेन इकोसिस्टम में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन शीर्ष स्थान पर काबिज है. वर्तमान में देश भर में 4 रूट पर वंदे भारत ट्रेनों का परिचालन हो रहा है.

Vande Bharat को लेकर आई खुशखबरी, यात्रियों को जल्द मिलेगी ये बड़ी सुविधा, सफर होगा और आसान

Vande Bharat Express train: भारतीय हाई-स्पीड ट्रेन इकोसिस्टम में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन शीर्ष स्थान पर काबिज है. वर्तमान में देश भर में 4 रूट पर वंदे भारत ट्रेनों का परिचालन हो रहा है. आने वाले समय में इस ट्रेन के संचालन का दायरा बढ़ाने की योजना पर काम जारी है. केंद्रीय रेल मंत्रीअश्विनी वैष्णव ने हाल ही में बताया था कि सरकार 2025 तक देश में 475 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें शुरू करने की योजना में है. इसके साथ ही रेल मंत्रालय ने नई पीढ़ी की वंदे भारत ट्रेनों के 200 नए रेक बनाने के लिए एक निविदा जारी की है. आधिकारिक जानकारी के अनुसार कुल निविदा लागत लगभग 26,000 करोड़ रुपये है. इतना ही नहीं कहा यह भी जा रहा है कि इस परियोजना को महज 30 महीनों में पूरा करना होगा.

मिलेगी स्लीपर कोच की सौगात

बीएचईएल, बीएमएल, मेधा, आरवीएनएल और एल्सटॉम इंडिया जैसी पांच प्रमुख कंपनियों ने इस परियोजना में अपनी रुचि दिखाई है. गौरतलब है कि वंदे भारत के ये 200 रेक केवल स्लीपर क्लास के लिए डिजाइन किए जाएंगे. साथ ही, ट्रेन को एल्यूमीनियम बॉडी के साथ बनाया जा सकता है और ट्रेनों के पिछले संस्करण की तुलना में यह 2-3 टन हल्का हो सकता है.

सुविधाओं में होगा और इजाफा

इन ट्रेनों में वाई-फाई सुविधा के साथ केवल स्लीपर क्लास कोच होंगे. हर कोच में यात्री सूचना और इंफोटेनमेंट प्रदान करने वाली एलईडी स्क्रीन होगी. नई डिजाइन की गई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों में एक फोटो-कैटेलिटिक अल्ट्रावॉयलेट एयर प्यूरिफिकेशन सिस्टम होगा, जिसे एयर प्यूरिफिकेशन के लिए भी लगाया जाएगा.

आरामदायक और सुरक्षित यात्रा

यात्रा को सुरक्षित और अधिक आरामदायक बनाने के लिए इन ट्रेनों में स्वचालित फायर सेंसर, सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस सिस्टम भी होंगे. गौरतलब है कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें विमान जैसे यात्रा का अनुभव देती हैं. सभी ट्रेनें उन्नत अत्याधुनिक सुरक्षा सुविधाओं से लैस हैं. जिसमें स्वदेशी रूप से विकसित ट्रेन टक्कर बचाव प्रणाली-कवच भी शामिल है. रेलवे अधिकारी कह रहे हैं कि ये ट्रेनें देश में रेल विकास परियोजनाओं के लिए गेम चेंजर हैं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news