वॉलमार्ट के CEO का बड़ा बयान, भारतीय बाजार को लेकर कंपनी प्रतिबद्ध

मैकमिलन ने फ्लिपकार्ट द्वारा की गई प्रगति पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि वॉलमार्ट अवसरों के आकार के लिहाज से भारतीय बाजार को लेकर अधिक महत्वाकांक्षी है.

वॉलमार्ट के CEO का बड़ा बयान, भारतीय बाजार को लेकर कंपनी प्रतिबद्ध
वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण 15 बिलियन डॉलर में किया था. (फाइल)

बेंगलुरू: वॉलमार्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डग मैकमिलन ने मंगलवार को कहा कि कंपनी भारतीय बाजार को लेकर प्रतिबद्ध है. भारतीय बाजार में असीम अवसर हैं. करीब एक साल पहले वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण किया था. मैकमिलन ने कहा कि देश में परिचालन करने वाले कारोबारों के लिए वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए बराबरी के अवसर उपलब्ध होना जरूरी है. मैकमिलन दो दिवसीय यात्रा पर बेंगलुरु आए हुए हैं. मैकमिलन ने टाउनहॉल में कर्मचारियों को संबोधित किया , जहां उनसे कई सवाल पूछे गए. 

सूत्रों के मुताबिक, मैकमिलन ने फ्लिपकार्ट द्वारा की गई प्रगति पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि वॉलमार्ट अवसरों के आकार के लिहाज से भारतीय बाजार को लेकर अधिक महत्वाकांक्षी है. भारतीय बाजार में नियामकीय चुनौतियों को लेकर मैकमिलन ने कहा कि वॉलमार्ट कई देशों में परिचालन करती है और हर बाजार के स्थानीय नियमों का अनुपालन करती है. हालांकि उन्होंने कारोबार के लिए बराबरी के अवसर पर जोर दिया. कारोबारी इकाइयों को इसकी जरूरत होती है. सरकार ने विदेश निवेश वाली ई - कॉमर्स कंपनी के लिए नियमों को सख्त किया था. ये नियम एक फरवरी से प्रभावी हैं. 

नई E-Commerce पॉलिसी तैयार, Amazon और Flipkart ने किया स्वागत

फरवरी के महीने में खबर आई थी कि ई-कॉमर्स के क्षेत्र में विदेशी निवेश को लेकर नियम में बदलाव के बाद वॉलमार्ट भारतीज बाजार से जाने के लिए सोच रही है. हालांकि, उस समय कंपनी की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि वह भारतीय बाजार को लेकर कमेटिड है. बता दें, वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट को 16 अरब डॉलर (1 लाख करोड़) में खरीदा है.