close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: बोल्ट ने पकड़ा कैच पर न बचा सके छक्का, अंपायर से पहले गप्टिल ने किया इशारा

विश्व कप फाइनल के आखिरी ओवर में ट्रेंट बोल्ट ने बेन स्टोक्स का कैच पकड़ लिया लेकिन वे बाउंड्री छू गए.  इसके फौरन बाद पास खड़े मार्टिन गप्टिल ने छक्के का इशारा भी कर दिया.

VIDEO: बोल्ट ने पकड़ा कैच पर न बचा सके छक्का, अंपायर से पहले गप्टिल ने किया इशारा
न्यूजीलैंड के लिए फाइनल मैच अच्छे खेल के बावजूद निराशाजनक रहा. (फोटो:ANI)

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) के रोमांचक फाइनल के कई बातों की खूब चर्चाएं हो रही हैं. कई विवाद भी पैदा हो गए. पहले मैच टाई हुआ फिर सुपर ओवर का टाई हो गया. उसके बाद बाउंड्री काउंट से हुए फैसले ने तो बवाल ही मचा दिया. इसके पहले मैच का आखिरी ओवर भी कम रोमांचक नहीं रहा. इस ओवर से पहले लग रहा था कि न्यूजीलैंड की टीम यह मैच जीत जाएगी. लोकिन बेन स्टोक्स के साहस ने मैच अंततः टाई ही करा दिया. इस ओवर में भी ओवर थ्रो विवाद ने हंगामा मचा रखा है. लेकिन कम लोगों का ध्यान इस ओवर में उस छक्के और उससे जुड़े पहलुओं की ओर गया जिसने मैच में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड के बराबर खड़ा कर दिया था. 

क्या था उस ओवर से पहले हाल
इंग्लैंड की टीम 242 रन का पीछा करते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 227 रन बना चुकी थी. क्रीज पर बेन स्टोक्स का साथ आदिल राशिद दे रहे थे, जो कि क्रीज पर आए ही थे. इंग्लैंड को जीत के लिए छह गेंदों में 15 रन की जरूरत थी. सब के मन में यही सवाल था कि क्या बेन स्टोक्स टीम को जीत दिला सकेंगे या नहीं. हालात और पिछले कुछ ओवरों के मुताबिक तो यह बहुत ही मुश्किल लग रहा था. पहली दो गेंदों पर स्टोक्स ने कोई रन नहीं लिया. वे जानते थे कि अब वे ही इंग्लैंड को मैच जिता सकते हैं. अब 4 गेंदों में 15 रन. हालात इंग्लैंड के खिलाफ

यह भी पढ़ें: World Cup final: अगर दोनों टीमों के बाउंड्री काउंट भी बराबर होते, तो कैसे होता फैसला

कैच या छक्का
ओवर की तीसरी गेंद मैच का टर्निंग प्वाइंट रहा जहां से मैच बराबरी की ओर आया, लेकिन इस गेंद पर भी काफी ड्रामा होना बाकी था. बोल्ट की इस लेंथ गेंद को स्टोक्स ने मिड विकेट के ऊपर से छक्का के लिए शॉट मारा, और गेंद मिडविकेट बाउंड्री की ओर चली गई जहां ट्रेंट बोल्ट तैयार खड़े थे. दर्शकों की सांसे अटक ही गई थी. तभी बोल्ट ने कैच तो पकड़ लिया, लेकिन वे बाउंड्री को छू गए. जब तक वे गेंद पास खड़े गप्टिल की ओर फेंकते तब तक देर हो चुकी थी. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: जसप्रीत बुमराह के इन रिकॉर्ड्स पर नहीं गया किसी का ध्यान

अपंयार से पहले गप्टिल
जैसे ही बोल्ट ने गेंद को पकड़ने के बाद उसे अंदर फेंका. गप्टिल ने देखा कि बोल्ट बाउंड्री छू चुके हैं और उन्होंने फौरन ही छक्के का इशारा कर दिया. इसके बाद अंपयार ने रीप्ले देखा और छक्का करार दिया. बोल्ट भी इसके बाद निराश दिखे. लेकिन अंपायर के लिए रीप्ले देखकर कंफर्म करना जरूरी था. गप्टिल की इस खेल भावना की तारीफ भी हुई, लेकिन इस गेंद का रोमांच अगली गेंद के ड्रामा में छिप गया. 

क्या हुआ था चौथी गेंद पर
चौथी गेंद पर स्टोक्स ने मिड विकेट की ओर जमीनी शॉट मारा. यहां स्टोक दो रन लेने का मन बना चुके थे. लेकिन गप्टिल भी तैयार थे उन्होंने भी विकेटकीपर की ओर थ्रो किया, लेकिन गेंद स्टोक्स के बल्ले से लग कर बाउंड्री पार कर गई और इंग्लैंड को छह रन मिल गए जिसके बाद इंग्लैंड को जीत के लिए दो गेंदों पर तीन रन की जरूरत थी. पांचवी गेंद पर भी स्टोक्स ने दो रन लेने की कोशिश लेकिन आदिल राशिद रन आउट हो गए. अंतिम गेंद पर भी वही हुआ और दो रन लेने की कोशिश में इस बार मार्क वु़ड आउट हो गए और मैच टाई हो गया.