World Cup 2019: एलन बॉर्डर ने बताए 3 फेवरेट कप्तान, गिनाए ये नाम
topStorieshindi

World Cup 2019: एलन बॉर्डर ने बताए 3 फेवरेट कप्तान, गिनाए ये नाम

बॉर्डर के मुताबिक 2019 के विश्व कप में कोहली, मॉर्गन और फिंच विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ कप्तान साबित हो सकते है

World Cup 2019: एलन बॉर्डर ने बताए 3 फेवरेट कप्तान, गिनाए ये नाम

मेलबर्न: आईसीसी विश्वकप 2019 में कौन सी टीम फेवरेट हैं इस पर दुनिया भर में बहस जारी है. इस सवाल पर 1987 में ऑस्ट्रेलिया को विश्व चैंपियन बनाने वाले कप्तान एलन बॉर्डर भी इस चर्चा में शामिल हो गए हैं. ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज क्रिकेटर ने उम्मीद जताई है कि इस बार के आईसीसी वनडे विश्व कप में विराट कोहली, इयोन मोर्गन और आरोन फिंच सर्वश्रेष्ठ कप्तान साबित हो सकते हैं. 

विराट क्यों लगे बॉर्डर को अलग कप्तान
एलन बॉर्डर ने 1987 में भारत और पाकिस्तान में हुए विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया को चैंपियन बनाया था. उस टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल मैच में इंग्लैंड को मात दी थी. बॉर्डर ने इन तीन कप्तानो की  कहा कि आक्रामक शैली और तुरंत जवाब देने का कप्तानी कौशल कोहली को मोर्गन और फिंच से अगल तरह का कप्तान बनाता है. बॉर्डर ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि विराट कोहली एक अलग प्रकार के कप्तान हैं. वह थोड़े आक्रामक किस्म के खिलाड़ी हैं और विरोधी टीम को उसी के अंदाज में जवाब देने के लिए तैयार रहते है.’’  उन्होंने कहा, ‘‘ विरोधी खिलाड़ी को पता होता है कि अगर वह ऐसे कप्तान से भिड़ेगे तो उन्हें तुरंत जवाब मिलेगा.’’ 

Virat kohli

क्या कहा मोर्गन के बारे में 
ऑस्ट्रेलिया के 178 मैचों में कप्तानी करने वाले बॉर्डर मोर्गन से भी काफी प्रभावित हैं, जिनके नेतृत्व में इंग्लैंड एकदिवसीय क्रिकेट के शिखर पर पहुंचा है. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इंग्लैंड की टीम असाधारण रूप से अच्छा कर रही हैं. वे अलग तरह की योजना के साथ खेल रहे है यह देखना दिलचस्प होगा कि विश्व कप में उनकी योजना क्या करिश्मा दिखाती है. वह एक खतरनाक टीम हैं और उनकी गेंदबाजी किसी को भी दबाव में ला सकती है.’’ 

Eoin Morgan

फिंच क्यों हैं बॉर्डर के लिए खास
बांये हाथ का 63 साल का यह पूर्व कप्तान मुश्किल परिस्थितियों में फिंच की नेतृत्व क्षमता से प्रभावित है. उन्होंने कहा, ‘‘आरोन फिंच शानदार काम कर रहे हैं. टीम से उन्हें अच्छा साथ मिल रहा है और मुझे लगता है कि यह उनकी कप्तानी में दिख रहा है. टीम में हर किसी को अपनी जिम्मेदारी का एहसास है.’’ उल्लेखनीय है कि करीब सवा साल पहले तक स्टीव स्मिथ को ही ऑस्ट्रेलिया टीम का कप्तान माना जा रहा था, उसके बाद नंबर दो उस समय के उपकप्तान डेविड वार्नर थे, लेकिन दोनों के ही बॉल टेम्पिरिंग विवाद में फंसने के बाद स्थितियां बदल गईं. एक वर्ष के बैन के बाद भी दोनों में से किसी का भी ऑस्ट्रेलिया का कप्तान बनना नामुमकिन हो गया. 
(इनपुट भाषा)

Trending news