World Cup 2019: इंग्लैंड के सामने ऑस्ट्रेलिया को हराने की कड़ी चुनौती

World Cup 2019: इंग्लैंड के सामने ऑस्ट्रेलिया को हराने की कड़ी चुनौती

विश्व कप में पिछले मैच में श्रीलंका के हाथों हारने के बाद इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया को हराकर जीत की राह पर लौटना चाहेगा.

World Cup 2019: इंग्लैंड के सामने ऑस्ट्रेलिया को हराने की कड़ी चुनौती

लंदन: आईसीसी विश्व कप 2019 (ICC World Cup 2019)) में  इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया (England vs Australia) के बीचलंदन के लॉर्डस मैदान पर मंगलवार को कड़ी टक्कर देखने की पूरी उम्मीद है. इंग्लैड की टीम पिछले मैच में श्रीलंका से हारने के बाद अपनी गलतियों से सबक लेकर वापसी की कोशिश में होगी. वहीं उसकी परंपरागत विरोधी टीम ऑस्ट्रेलिया भी अपनी जीत के साथ खुद को टॉप पर लाने की दौड़ में बनाए रखने के लिए पूरा जोर लगा देगी. 

बाहर भी हो  सकती है इंग्लैंड अगर
श्रीलंका के खिलाफ इंग्लैंड की हार ने टूर्नामेंट में रोमांच ला दिया है. श्रीलंका के खिलाफ जीत के लिये 233 रन के लक्ष्य के जवाब में इंग्लैंड की टीम 212 रन पर आउट हो गई थी. इससे पहले उसे पाकिस्तान ने भी हराया था लेकिन मेजबान टीम टॉप चार टीमों में बनी हुई है सेमीफाइनल में प्रवेश की प्रबल दावेदार है लेकिन अब हालात यह हैं कि इंग्लैंड भी सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो सकता है. इंग्लैंड को अभी  ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत और न्यूजीलैंड जैसी तगड़ी टीमों से खेलना है. इन तीनों मैचों में हार और बाकी टीमों का गणित उसे टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखा सकती है. 

यह भी पढ़ें: ICC World Cup: दुनिया को मिला नया धोनी, पर हमारे खिलाफ 0 में आउट होगा: लेंगर

आगे कठिन मैच हैं इंग्लैंड के, लेकिन...
इंग्लैंड  की टीम ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड को 1992 के बाद विश्व कप में नहीं हरा सकी है. पिछले विश्व कप से पहले दौर में बाहर होने के बाद से इंग्लैंड विश्व रैंकिंग में अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के दम पर नंबर वन तक पहुंचा. उसने इन चार साल में दो बार वनडे क्रिकेट का सर्वोच्च स्कोर बनाया. महज साल भर पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छह विकेट पर 481 रन बनाए थे. टूर्नामेंट से ठीक पहले वह खिताब जीतने की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही थी. उसे अब भी सबसे मजबूत टीम माना जा रहा है.

इंग्लैंड के सामने है यह गंभीर समस्या
श्रीलंका के खिलाफ हालांकि बल्लेबाजों की मददगार पिच पर इंग्लैंड के बल्लेबाजो के फेल होने के बावजूद इंग्लैंड मजबूत है. ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड को उसे हराना आसान नहीं होगा. पिछले एक साल में वह नबंर वन टीम यूं ही नहीं बनी है. टीम में बल्लेबाजी क्रम अंत तक मजबूत है. 

फॉर्म में है ऑस्ट्रेलियाई टीम
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच और डेविड वार्नर  के बेहतरीन फार्म में रहने से टीम को मजबूती मिली है. प्वाइंट टेबल में ऑस्ट्रेलिया दूसरे स्थान पर है. मिशेल स्टार्क ने विश्व कप में जोफ्रा आर्चर (इंग्लैंड) और मोहम्मद आमिर (पाकिस्तान) के बराबर 15 विकेट ले लिये हैं. पैट कमिंस भी बहुत पीछे नहीं हैं. ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ बेहतरीन गेंदबाजी कर उससे एक नजीदीकी मैच छीना है. टीम का हर विभाग इंग्लैंड को कड़ी टक्कर देने के लिए पूरी तरह से सक्षम है. 

टीमें इस प्रकार हैं-
इंग्लैंड: इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर, टॉम कुरेन, लियाम डासन, लियाम प्लंकेट, आदिल रशीद, जो रूट, जेसन राय, बेन स्टोक्स, जेम्स विंस, क्रिस वोक्स, मार्क वुड.

ऑस्ट्रेलिया: एरॉन फिंच (कप्तान), डेविड वार्नर, उस्मान ख्वाजा, स्टीव स्मिथ, शॉन मार्श, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल, मिचेल स्टार्क, केन रिचर्डसन, पैट कमिंस, जेसन बेहरनडोर्फ, नाथन कुल्टर नाइल, एडम जाम्पा, नाथन लॉयन.
(इनपुट भाषा से भी)

Trending news